गौसेवा / 37 दिन से श्रीगंगानगर से हरा चारा मंगवा कर आवारा गौवंश को खिला रहे हैं युवा

For 37 days, young people are feeding the stray cow dynasty by getting green fodder from Sriganganagar.
X
For 37 days, young people are feeding the stray cow dynasty by getting green fodder from Sriganganagar.

  • फलोदी में जनसहयोग से मंगवा रहे चारा, अब तक 13 लाख रुपए कर चुके खर्च, 3 हजार पशुओं को मिला जीवनदान

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 05:00 AM IST

फलोदी. लॉकडाउन के दौर में कुछ युवाओं ने निराश्रित गौवंश और आवारा घूम रहे अन्य जानवरों को बचाने की मुहिम शुरू की थी। संत सागरिया बाबा की प्रेरणा से युवाओं ने गौवंश के लिए हरा चारा उपलब्ध करवाना तय किया। सागरिया बाबा ने इसे नाम दिया-हरा चारा गोग्रास महायज्ञ। सागरिया बाबा देश भर में विभिन्न गौशालाओं से जुड़े हुए हैं।

बाबा की प्रेरणा से पूर्ण प्रकाश व्यास, गिरीराज व्यास, जेआरडी ग्रुप के रमेश थानवी, श्रीवल्लभ बोहरा, झूमर जोशी, भगत जोशी, पवन व्यास, आनंद थानवी, अशोक सखी, बाबू चांडक, जयराग गज्जा, विजय व्यास, ढढ जी टरू व विजय पालीवाल आदि ने जन सहयोग से श्रीगंगानगर से हरा चारा मंगवाकर गोवंश को डालना शुरू किया। जैसे-जैसे भामाशाहों को पता चलता गया, धन का अभाव खत्म होता गया।

गोसेवक गिरीराज व्यास बताते हैं कि जहां कहीं भी हमें सूचना मिलती है वहां पर हरा चारा भिजवाया जा रहा है। फलोदी से 50 किमी के दायरे में हरा चारा भिजवाया जा रहा है। सहयोग देने वालों में लोकल लोगों के अलावा जोधपुर, मुंबई, दिल्ली, मद्रास, दुबई एवं देश के अनेक शहरों के लोग है।  व्यास ने बताया कि प्रतिदिन श्रीगंगानगर से हरा चारा की गाडी मंगवाई जाती है।

37 दिन से लगातार गाडियां आ रही हैं और एक की कीमत 35 हजार रुपए है। अब तक करीब 13 लाख रुपए का हरा चारा वितरित किया जा चुका है। दो दर्जन से अधिक युवा इस मिशन में जुटे हुए हैं। कई दफा पोकरण तक भी चारा पहुंचाया है।

गिरीराज व्यास ने बताया कि पशु चिकित्सकों का कहना है कि हरा चारा खाने से गौवंश को विशेष लाभ मिलता है। इससे पशुओं की मृत्यु दर में कमी आई है वरना लॉकडाउन में गौवंश की काफी मौत हो जाती। प्रतिदिन करीब 3 हजार गौवंश तक हरा चारा पहुंच रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना