पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

राजस्थान में सियासी उलटफेर:अशोक गहलोत के गढ़ मारवाड़ से चार विधायकों ने पायलट के साथ उड़ान भरी

जोधपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हेमाराम चौधरी, खुशवीरसिंह जोजावर, मुकेश भाकर व रामनिवास गंवारिया पायलट से जुड़े
  • फेसबुक वॉल पर पद से इस्तीफा देने की घोषणा, बाेले- नई कार्यकारिणी बनेगी

बगावत पर उतरे सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गढ़ मारवाड़ में भी सेंध लगाई। हालांकि मारवाड़ की राजनीति में अशोक गहलोत का इतना दबदबा रहा है कि क्षेत्र के अधिकांश कांग्रेस प्रत्याशी भी वे ही तय करते हैं। बावजूद इसके मारवाड़ में 22 कांग्रेसी व 2 निर्दलीय विधायकों में से 4 विधायकों ने पायलट के साथ उड़ान भर ली। इसके अलावा जोधपुर से पीसीसी सचिव करणसिंह उचियारड़ा सहित कइयों ने इस्तीफा दिया है। पायलट के समर्थन में पाली कांग्रेस के जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल चाड़वास ने भी पद त्याग दिया।

पायलट के काॅकपिट में बैठने वाले विधायकाें में गुड़ामालानी विधायक हेमाराम चौधरी, प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष व लाडनूं विधायक मुकेश भाखर, मारवाड़ जंक्शन से निर्दलीय चुनाव जीतने वाले खुशवीर सिंह जोजावर व परबतसर के विधायक रामनिवास गंवारियां हैं। लेकिन चार विधायकों के पायलट से जुड़ने के बावजूद मारवाड़ में कांग्रेस की राजनीति में कोई विशेष बदलाव के आसार नहीं है।

इन चारों विधायकों में से सिर्फ हेमाराम चौधरी का बाड़मेर जिले में अच्छा प्रभाव माना जाता है। हेमाराम के खेमा बदलने से वहां की स्थानीय राजनीति में कुछ हलचल हाे सकती है। जबकि नागौर से एक साथ तीन विधायकों के पायलट से जुड़ने का असर जिले में कांग्रेस की राजनीति पर अवश्य नजर आएगा।

गहलोत का साथ छोड़ पायलट के काॅकपिट में बैठने के कारण

हेमाराम चाैधरी
वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कभी गहलोत के नजदीकी थे। मंत्री पद नहीं मिलने से गहलोत से नाराज हैं। बाड़मेर जिले से जाट को मंत्री बनाना था। मुकाबले में राहुल गांधी के नजदीकी माने जाने वाले हरीश चौधरी ने बाजी मारी। इस कारण हेमाराम नाराज हो गए। अब वे खुलकर गहलोत का विरोध कर रहे हैं।
मुकेश भाकर
प्रदेश युकां अध्यक्ष व लाडनूं विधायक मुकेश भाखर को शुरू से ही पायलट का समर्थक माना जाता रहा है।
रामनिवास गंवारिया
परबतसर के गंवारियां भी गहलोत विरोधी हो गए। नागौर में कांग्रेस के 9 में से 3 विधायक सचिन खेमे में है।
खुशवीरसिंह जाेजावर
टिकट नहीं मिलने पर कांग्रेस से बगावत कर मारवाड़ जंक्शन से निर्दलीय चुनाव जीते। हालांकि खुशवीरसिंह जोजावर को हमेशा से अशोक गहलोत का नजदीकी माना जाता था। बदले हालात में उन्होंने अशोक गहलोत का साथ छोड़ सचिन पायलट से हाथ मिला लिया। 

उचियारड़ा ने फेसबुक पर दिया इस्तीफा बाेले- क्योंकि अब नई कार्यकारिणी बनेगी 
प्रदेश कांग्रेस सचिव करणसिंह उचियारड़ा ने फेसबुक वॉल पर पद से इस्तीफा देने की घोषणा की। उनका कहना था कि जब पीसीसी के नए अध्यक्ष बन गए है तो नई कार्यकारिणी बनेगी। ऐसे में पद से इस्तीफा दे दिया। इसी तरह पाली से पीसीसी सचिव राजेश कुमावत, सोमेंद्र गुर्जर तथा पर्यावरण व खनन विकास एवं उत्थान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष दुर्गासिंह राठौड़ ने भी इस्तीफे भेजे हैं।

पाली कांग्रेस जिलाध्यक्ष चुन्नीलाल चाड़वास ने पायलट के समर्थन में पद त्याग दिया। पार्टी के महासचिव अविनाश पांडे को भेजे इस्तीफे में उन्होंने लिखा कि वर्तमान समय में कांग्रेस ने प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट को अलोकतांत्रिक तरीके से पद से बर्खास्त कर दिया।

इससे आहत होकर पाली जिला कांग्रेस कमेटी के जिलाध्यक्ष पद से त्याग पत्र दे रहा हूं। जोधपुर में पूर्व पार्षद और महिला कांग्रेस की प्रदेश महासचिव विमला गुर्जर ने अपना इस्तीफा प्रदेश अध्यक्ष रेहाना रियाज चिश्ती को भेजा है। कांग्रेस कमेटी मीडिया सेल के प्रवक्ता पद से राजेश मेहता ने भी इस्तीफा दिया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

    और पढ़ें