फ्रेट काॅरिडोर:रेलवे से माल ढुलाई 30% सस्ती होगी, दोगुनी रफ्तार से दौड़ेंगी मालगाड़ियां, आधे समय में पहुंचाएंगी सामान

जोधपुरएक वर्ष पहलेलेखक: प्रवीण धींगरा
  • कॉपी लिंक
  • पहली बार पढ़िए बजट में बताई गई भविष्य के रेल नेटवर्क की राष्ट्रीय रेल योजना का ब्लूप्रिंट

भारतमाला प्रोजेक्ट में बन रही सड़कों से रेलवे को अपने माल भाड़े में 2% यानी करीब 10 करोड़ टन तक की कमी का खतरा दिख रहा है। उन सड़कों पर ट्रक माल लेकर 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगे। रेलवे ने इससे मुकाबले का प्लान बनाया है। इसके लिए फ्रेट काॅरिडोर पर मालगाड़ियों की औसत रफ्तार 25 से बढ़ाकर 50 किमी/घंटे की जाएगी।

मालभाड़े में भी 30% तक छूट के साथ कई पैकेज दिए जाएंगे। इसके साथ कुल लदान में रेलवे ने अपनी हिस्सेदारी 26 से बढ़ाकर 45% तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। रेलवे बोर्ड सदस्य (वर्क्स) मोहित कुमार ने बताया- 3 साल में होने वाले कार्यों की रूपरेखा महाप्रबंधकों को सौंप दी है। इससे 2024 तक लदान 202.4 करोड़ टन हो जाएगा। (आपकी राय या जानकारी इस नंबर पर वॉट्सएप करें 7357945045)

26 फीसदी रेल लाइनों पर अभी जाम की स्थिति

देश में मौजूदा रेल लाइनों में 26% ऐसी हैं, जिन पर क्षमता से अधिक ट्रेनें दौड़ रही हैं। यहां जाम जैसी स्थिति है। ऐसे में रेलवे मालगाड़ियों को 50 की स्पीड से दौड़ाने के लिए 7 हाई स्पीड कॉरिडोर व 11 बेहद व्यस्त मार्गों को द्रुत गति से दौड़ने वाली ट्रेनों के कॉरिडोर के रूप में विकसित करेगा।