पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जोधपुर का ट्रैफिक मोबिलिटी प्लान:शहर में 4 फ्लाईओवर एवं 2 अंडरब्रिज और बनें तो अगले 30 साल तक सुगम हो सकेगा ट्रैफिक

जोधपुर9 दिन पहलेलेखक: राजेश त्रिवेदी
  • कॉपी लिंक
ट्रैफिक मोबिलिटी प्लान वर्ष 2020 से 2050 तक (अगले 30 सालों के लिए) की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बनाया है। - Dainik Bhaskar
ट्रैफिक मोबिलिटी प्लान वर्ष 2020 से 2050 तक (अगले 30 सालों के लिए) की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बनाया है।
  • एलिवेडेट रोड नहीं बने तब भी हार्ट लाइन पर 7 फ्लाईओवर बना ट्रैफिक से दे सकेंगे राहत
  • शहर की 26 सड़कों को 6, 4 व टू-लेन में बदलने पर योजनाबद्ध काम करने का भी सुझाव

शहर के विस्तार व जनसंख्या के बढ़ते दबाव को ध्यान में रखते हुए जेडीए ने मास्टर डेवलपमेंट प्लान में जोधपुर का पहला ट्रैफिक मोबिलिटी प्लान वर्ष 2020 से 2050 तक (अगले 30 सालों के लिए) की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बनाया है। इसमें आगामी 30 साल में शहर की सड़कों पर ट्रैफिक के भारी दबाव को देखकर सभी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए सड़कों के फर्नीचर व फुटपाथ के उपयोग के साथ-साथ ट्रैफिक को फ्री-फ्लो करने की सिफारिश व सुझाव दिए हैं।

इसके लिए हार्ट लाइन के वैकल्पिक रास्तों पर 4 फ्लाईओवर व 2 अंडरब्रिज की जरूरत दर्शाई गई है। साथ ही शहर की हार्ट लाइन के ट्रैफिक को फ्री-फ्लो बनाने के लिए कृषि मंडी तिराहे से पावटा, नई सड़क, जालोरी गेट, 5वीं रोड होते हुए आखलिया तक डबल डेकर फ्लाईओवर (सबसे ऊपर मेट्रो-मोनो ट्रैक, दूसरे पर एनएच ट्रैफिक व सबसे नीचे शहर का ट्रैफिक) को सबसे बेहतर विकल्प माना है, लेकिन किसी कारण से अगर डबल डेकर फ्लाईओवर नहीं भी बने तो फिर हार्ट लाइन पर 7 फ्लाईओवर बनाने की जरूरत रहेगी।

वहीं शहर की सड़कों पर ट्रैफिक के भारी दबाव को देखते हुए इन सड़कों को चौड़ा करने का सुझाव है। इस प्लान में शहर की कुल 26 सड़कों को चौड़ा करने की सिफारिश की गई है। इनमें से 7 सड़कों को छह लेन और 11 को 4 लेन में बदलने का सुझाव दिया गया है, वहीं 8 सड़कों को टू या थ्री लेने में बदलना पड़ेगा। यह काम दो फेज में होगा।

पहला फेज वर्ष 2020 से 2030 और दूसरा फेज वर्ष 2030 से 2050 तक का होगा। भास्कर ने मास्टर डेवलपमेंट प्लान में शहर के ट्रैफिक मोबिलिटी प्लान को एक्सपर्ट की नजरों से देखा तो पाया कि अगले 30 साल के लिए जिन 26 सड़काें को ट्रैफिक के हिसाब से सुगम करना है, उनमें से 19 सड़कें ऐसी हैं जिसके लिए सरकारी जमीन मौके पर मौजूद है, सिर्फ 7 सड़कों को चौड़ा करने के लिए जमीन अवाप्ति करनी पड़ेगी।

ऐसे में इन सड़कों के आने वाले 30 साल में चौड़ा करने में ज्यादा दिक्कत नहीं आएगी। प्लान में इन सड़कों का निर्माण जेडीए, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी द्वारा करवाने का विकल्प चुना गया है, इसके लिए पैसों का इंतजाम जेडीए-निगम लोन के माध्यम से अर्जित करने का सुझाव भी शामिल है। ऐसे में जेडीए-निगम को आगामी 30 सालों में 160.19 किमी लंबी सड़कों को चौड़ा करने के लिए कुल 476.54 करोड़ रुपए खुद की कमाई व लोन लेकर करवाने होंगे।

कई जगह से हटेंगी सिग्नल लाइट्स, फ्री-फ्लो होगा ट्रैफिक
क्या फायदा

12वीं रोड दल्लेखां की चक्की से शास्त्रीनगर थाने के आगे तक
अभी दल्लेखां की चक्की सर्किल व शास्त्रीनगर थाने के बाहर जाम की स्थिति बनती है। फ्लाईओवर से 12वीं रोड से पाल रोड जाने वाला ट्रैफिक बिना रुके निकलेगा, जाम से मुक्ति मिलेगी।

मेन पाल रोड एंड एम्स जंक्शन
फिलहाल बासनी से एम्स होते हुए नहर रोड चौपासनी फिल्टर हाउस की तरफ जाने वाला ट्रैफिक जंक्शन पर मुख्य पाल रोड को बाधित करता है, फ्लाईओवर बनने से मुख्य पाल रोड का ट्रैफिक सुगम होगा।

12वीं रोड चौराहा (रेजिडेंसी रोड)
रेजिडेंसी रोड पर स्थित 12वीं रोड सर्किल पर दो एनएच के ट्रैफिक के कारण जाम रहता है, लेकिन यहां फ्लाईओवर बनने से दो एनएच का ट्रैफिक फ्री-फ्लो होगा। यहां लगी सिग्नल लाइट भी हटेगी।

1. सर्किट हाउस
क्या फायदा

सर्किट हाउस रोड पर राइट टर्निंग ट्रैफिक मूवमेंट के लिए यहां अंडरब्रिज बनेगा, जिससे भाटी चौराहे की तरफ जाने वाला ट्रैफिक बिना रुके जा सकेगा।
2. मेडिकल कॉलेज चौराहा
क्या फायदा

वीर दुर्गादास राठौड़ फ्लाईओवर से आने वाला ट्रैफिक को सीधा निकालने के लिए यहां अंडरब्रिज बनेगा, जिससे इस लाइट पर ट्रैफिक का दबाव कम होगा।

भाटी सर्किल से पांचबत्ती चौराहा

क्या फायदा

वीवीआईपी रोड पर सिग्नल लाइट के कारण रुक-रुक कर ट्रैफिक गुजरता है। वीआईपी मूवमेंट में घंटों तक जाम लगता है, फ्लाईओवर बनने से जाम से मुक्ति मिलेगी, ट्रैफिक फ्री-फ्लो होगा।

कौनसी सड़क-कितने लेन में तब्दील होगी
1. ये सड़कें सिक्स लेन

  • 12वीं रोड से बालोतरा टोल रोड
  • रोटरी सर्किल से न्यू पाली रोड एम्स तक
  • शास्त्रीनगर थाने से न्यू पॉवर हाउस रोड तक
  • आखलिया तिराहे से चौपासनी बाइपास तक
  • सेंट्रल एकेडमी से चौहाबो 17ई एम्स रोड तक
  • कालवी प्याऊ से पांचबत्ती चौराहा वाया सर्किट हाउस

2. ये फोर लेन में तब्दील होंगी

  • एयरपोर्ट से पाबूपुरा
  • न्यू कैंपस पाली रोड नाले के साथ होते हुए
  • अणदाराम स्कूल से डालीबाई सर्किल होते हुए राजीव गांधी नगर तक
  • कृषि मंडी तिराहे से सरस्वती नगर से जैसलमेर बाइपास तक
  • सरस्वती नगर शॉपिंग सेंटर से बाइपास तक (कृष्णा नगर)
  • महालक्ष्मी स्वीट से अंध स्कूल होते हुए दाऊ की ढाणी कायलाना रोड तक
  • कालवी प्याऊ से बनाड़ रोड खोखरिया फांटा तक
  • घांचियों की प्याऊ से बीआरओ बाइपास तक वाया शिकारगढ़
  • माता का थान से नागौर रोड वाया आंगणवा गांव
  • एम्स तिराहे से सालावास रोड वाया सांगरिया चौराहा
  • मंडोर से सूरसागर चौपड़
  • बनाड़ से गोरा होटल वाया नांदड़ी, उचियारड़ा
  • करवड़ से चौखा वाया मंडलनाथ

भाटी सर्किल से पांचबत्ती चौराहा

वीवीआईपी रोड पर सिग्नल लाइट के कारण रुक-रुक कर ट्रैफिक गुजरता है। वीआईपी मूवमेंट में घंटों तक जाम लगता है, फ्लाईओवर बनने से जाम से मुक्ति मिलेगी, ट्रैफिक फ्री-फ्लो होगा।

यह भी करना होगा ट्रैफिक सुगम करने के लिए
शहर की सड़कों पर कुल 14 जंक्शन सुधारने होंगे। प्रमुख सड़कों पर ट्रैफिक को फ्री-फ्लो करने के लिए 7 जगह फुटओवर ब्रिज, बीआरटीएस के लिए 320 बस शेल्टर व बस-वे तथा 7 जगहों पर ऑफ स्ट्रीट पार्किंग विकसित करने पर भी काम करना होगा।
भास्कर एक्सपर्ट
राकेश शर्मा, पूर्व एक्सईएन जेडीए (आरओबी-फ्लाईओवर के जानकार)
घनश्याम पंवार, रिटायर्ड एक्सईएन जेडीए

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें