कोविड टीकाकरण:9 माह में 82.50% को लगी पहली डोज दूसरी डोज लगवाने वाले सिर्फ 35.89%

जाेधपुरएक महीने पहलेलेखक: महावीर प्रसाद शर्मा
  • कॉपी लिंक
शहर में कोरोना से बचाव की दूसरी डोज लगाने वाले कम आ रहे हैं। खाली पड़ा मॉडल वैक्सीनेशन सेंटर। - Dainik Bhaskar
शहर में कोरोना से बचाव की दूसरी डोज लगाने वाले कम आ रहे हैं। खाली पड़ा मॉडल वैक्सीनेशन सेंटर।
  • 32 लाख 20 हजार 873 को लगा कोरोना से बचाव का टीका..., 27,13,878 कोविशील्ड व 5,06,995 को कोवैक्सीन की डोज

देश भर में 16 जनवरी से शुरू हुए वैक्सीन अभियान के तहत जोधपुर जिले में अब तक कुल 32 लाख 20 हजार 873 लोगों यानि करीब 82.50 प्रतिशत को वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी है। लेकिन महज 35.89 फीसदी ने ही दूसरी डोज लगवाई है। पहली के मुकाबले दूसरी डोज लगवाने के प्रति युवाओं और बुजुर्गों में उत्साह को न देखते हुए विभाग ने पहली डोज लगा चुके युवाओं और बुजुर्गाें से दूसरी डोज लगवाने की भी अपील की है ताकि वे कोरोना के संक्रमण से बच सकें। दूसरी डोज लगवाने वालों का आंकड़ा प्रदेश स्तर पर घटने को लेकर चिकित्सा मंत्री कई बार विभाग के अधिकारियों को निर्देशित कर चुके हैं कि वे दूसरी डोज पर फोकस करें।

जिले में नौ महीने में 27 लाख 13 हजार 878 को कोविशील्ड और 5 लाख 06 हजार 995 को कोवैक्सीन लगी है। चिकित्सा विभाग की मानें तो पूरे वैक्सीन अभियान में वैक्सीन की वेस्टेज नेगेटिव में रही और इस वजह से दूर दराज के गांवों में भी अधिकतम लोगों को वैक्सीन लगाई जा सकी। हालांकि शहर में पहले वैक्सीन कम होने की वजह से टीका लगवाने के लिए ऑनलाइन स्लाट बुक कराने की अनिवार्यता रखी गई लेकिन अब वैक्सीन की पर्याप्त सप्लाई होने के बाद ऑनलाइन स्लॉट की शर्त हटा दी है। इसके बावजूद लाभार्थी वैक्सीन लगवाने के लिए नहीं आ रहे हैं।

आरसीएचओ डॉ. कौशल दवे का कहना है कि कोरोना के आंकड़े कम होने से वैक्सीनेशन कार्यक्रम में थोड़ी स्थिरता आई है। बड़े सेंटरों पर भी पूरे दिन में वैक्सीन के लिए ना के बराबर ही लोग आ रहे हैं जो कि गलत है। यदि कोरोना वायरस पर हमें पूरी तरह जीत हासिल करनी है तो हर चिन्हित व्यक्ति का वैक्सीनेशन जरूरी है। कोई भी व्यक्ति इस अभियान से चूकता है तो उसे वायरस से संक्रमण होने का खतरा बना रहेगा। यदि वायरस म्यूटेट होता है तो भी वैक्सीन शरीर पर वायरस का ज्यादा प्रभाव नहीं होने देगी। दूसरी डोज के लिए सभी को तय समय पर आगे आकर वैक्सीन लगवानी चाहिए।

1 लाख से ज्यादा डोज सेंटर्स पर पड़ी, देरी न करें जाकर लगवाएं

​​​​​​​चिकित्सा विभाग के सूत्रों ने बताया कि जिले को अब तक टीके की कुल 33 लाख 24 हजार 580 डोज मिली है। इसमें से 27 लाख 77 हजार 200 काेविशील्ड की है और 5 लाख 47 हजार 380 काेवैक्सीन हैं। अभी तक सेंटर्स से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में विभिन्न सेंटर्स पर 1 लाख 03 हजार 707 डोज बची हुई है। डोज लगवाने के लिए अब पहले स्लॉट बुक कराने की अनिवार्यता भी हटा दी है तो अगर दूसरी डोज का टाइम हो चुका है तो लाभार्थी करीबी सेंटर पर जाकर डोज लगवा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...