पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

केन्द्रीय मंत्री का फलोदी दौरा:यह युद्ध का समय है, सभी कोे न केवल लड़ना है, बल्कि जीतना भी है- शेखावत

फलोदी(जोधपुर)एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने रविवार को फलोदी अस्पताल का दौरा कर कोरोना मरीजों के इलाज की जानकारी ली। फोटो- ताराचंद नागर - Dainik Bhaskar
केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने रविवार को फलोदी अस्पताल का दौरा कर कोरोना मरीजों के इलाज की जानकारी ली। फोटो- ताराचंद नागर

केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री व सांसद गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कोरोनाकाल की तुलना युद्ध से करते हुए कहा है कि यह युद्ध का समय और सबको लड़ना है, सभी कोे न केवल लड़ना है बल्कि जीतना भी है। शेखावत आज दोपहर फलोदी के सरकारी अस्पताल में डॉक्टरों व पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत कर रहे थे। उन्होंने फलोदी के अस्पताल में सांसद कोष से डेढ़ करोड़ की लागत से सीटी स्कैन मशीन स्थापित करने की घोषणा की।

शेखावत आज सुबह करीब 11 बजे फलोदी अस्पताल पहुंचे थे। कोरोना काल की दूसरी वेव आने के बाद आज पहली बार किसी केंद्रीय मंत्री ने फलोदी में दस्तक दी और स्वास्थ्य सेवाओं के हाल जाने। अभी तक राज्य सरकार के किसी मंत्री ने यहां पहुंचने की जहमत नहीं दिखाई है। अस्पताल पहुंच कर उन्होंने भामाशाह पप्पूराम डारा व सहयोगियों द्वारा लगाए जा रहे ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का अवलोकन किया। उन्होंने प्लांट लगने के बाद मरीजों को मिलने वाली राहत के बारे में भी पूछा।

डॉक्टर की लगाई क्लास

इस दौरान उन्हें बताया गया कि पीपाड से स्थानांतरित होकर आए डाक्टर कैलाश मेघवाल ने कल रात को कार्यभार ग्रहण कर लिया है। इस समय डाक्टर मेघवाल भी वहीं खड़े थे। उन्होंने डाक्टर मेघवाल से पूछा कि इमरजेंसी और वार टाइम में इतना समय पहुंचने में लगना चाहिए क्या? शेखावत ने कहा कि यह लड़ाई का समय है, युद्ध के मैदान में जाने में इतना समय लगना चाहिए क्या? पीपाड से फलोदी पहुंचने में 2 दिन लगा दिए। उनके ज्वाइनिंग में इतना समय लगाने से शेखावत कुछ खफा खफा से नजर आए।

व्यवस्थाओं व संसाधनों की ली जानकारी

उन्होंने चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डॉ. मधु शर्मा व प्रशासनिक अधिकारी डॉ. चैनसुख सोनी से कोविड मरीजों के लिए की गई व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। वहीं यह भी जानना चाहा कि समस्या और आवश्यकता क्या है वह बताई जाए। उन्होंने एम्बुलेंस आदि के बारे में भी डॉ. शर्मा से जानकारी ली। शेखावत ने एसडीएम यशपाल आहुजा से ग्रामीण क्षेत्रों में माइक्रो कंटोनमेंट जोन व मरीजों की स्थित पूछी। आहुजा ने बताया कि खीचन, कलरा, होपारडी व एसएसनगर आदि में अधिक मरीज मिले हैं। शेखावत ने डॉ. कैलाश मेघवाल को निर्देशित किया कि सीएमएचओ के पास डिमांड भेजकर रेमडेसिविर इंजेक्शन व अन्य दवाएं मंगवा लो ताकि आवश्यकता पड़ने पर काम आ सके। उन्होंने सांसद कोटे से फलोदी सरकारी अस्पताल के लिए सीटी स्कैन मशीन देने की भी घोषणा की है। इसकी लागत करीब डेढ़ करोड रुपए होगी।

कंटेंट व फोटो: ताराचंद नागर, फलोदी

खबरें और भी हैं...