दंगाई सुबह 5 बजे से फैला रहे थे दहशत:दंगा पीड़ित बोला- स्कूटी से नीचे गिराया, पैर पर सरिये से मारते रहे

जोधपुर5 महीने पहले

जोधपुर शहर में सोमवार रात से दहशत का डेरा था। 15 घंटे तक उपद्रवियों ने जमकर उपद्रव मचाया। दावा किया जा रहा था कि मामला शांत होने के बाद मंगलवार सुबह 9 बजे के बाद माहौल बिगड़ा। लेकिन, इस घटनाक्रम की हकीकत यह है कि सोमवार रात को शुरू हुआ विवाद थमा ही नहीं था। मंगलवार सुबह से ही हिंसा-आगजनी, तोड़फोड़ शुरू हो गई थी। बीच रास्ते में मिलने वाले लोगों को डराया-धमकाया गया।
इस हिंसा का एक 18 साल का पीड़ित भी सामने आया है। 18 साल के इस युवक मुकुल बोहरा को सुबह 5 बजे बेरहमी से पीटा गया। इतना पीटा कि उसके पैर में फ्रैक्चर हो गया। मुकुल डीजे-साउंड का काम करता है, फिलहाल वह महात्मा गांधी हॉस्पिटल में भर्ती है। मुकुल ने बताया सुबह-सुबह कैसे दंगों की आंच में तप रहा था जोधपुर...

मंगलवार सुबह 5 बजे शादी का ऑर्डर पूरा कर घर आ रहा था। तभी जालोरी गेट के पास राजदान मेंशन पर 7 से 8 लड़के पीछा करने लगे। मैं कुछ समझ पाता, इससे पहले इन युवकों ने स्कूटी को धक्का मारा और नीचे गिरा दिया। सभी बदमाश हाथ में सरिया लेकर आए और देखते ही देखते मुझ पर हमला कर दिया। पैर में एक ही जगह पर सरिया से वार करते रहे। उसे इतना पीटा कि पैर में तीन फ्रैक्चर आए। मेरे पिता का देहांत हो चुका है। घर में एक छोटा भाई और मां हैं। जैसे-तैसे मैं घर के पास पहुंचा। छोटे भाई को बताया तो वह हॉस्पिटल लेकर पहुंचा। अब मां हॉस्पिटल में ख्याल रख रही है। मुझे तड़पता देख उनके आंसू नहीं रुक रहे हैं।

उधर, जोधपुर में अभी हालात कंट्रोल में हैं। जालोरी गेट से लेकर शहर के 10 थानों के इलाकों में पुलिस जाब्ता तैनात कर रखा है। जालोरी गेट को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। बिना काम-काज किसी को घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी गई है।

बुधवार सुबह जालोरी गेट चौराहे पर सभी दुकानों को बंद रखा गया। मोहल्ला से आने वाले रास्तों पर पुलिस जाब्ता तैनात किया गया है।
बुधवार सुबह जालोरी गेट चौराहे पर सभी दुकानों को बंद रखा गया। मोहल्ला से आने वाले रास्तों पर पुलिस जाब्ता तैनात किया गया है।

बाइक को आग लगा रहे थे, पास जाते ही पेट्रोल टैंक फोड़ दिया
इस उपद्रव में कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए। उपद्रवियों ने बाइक को आग भी लगा दी। इसी आगजनी में एक युवक बुरी तरह से झुलस गया। आदिनाथ नगर पाल रोड निवासी अमित पेशे से इंजीनियर है और अभी महात्मा गांधी हॉस्पिटल में भर्ती हैं। अमित के भाई दिनेश पूरी ने बताया कि कैसे अमित हिंसा की चपटे में आया...

मंगलवार सुबह वह हमेशा की तरफ अपने काम पर जा रहा था। कबूतर चौक से गुजर रहा था। वहां बदमाशों ने एक बाइक को आग के हवाले कर रखा था। अमित कुछ समझ पाता इससे पहले एक उपद्रवी ने बाइक के पेट्रोल टैंक में छेद कर दिया। ऐसे में अचानक से आग का गुब्बारा बना और सीधे अमित पर आ गया। इस हादसे में अमित के पैर-हाथ और पेट का काफी हिस्सा जल गया। मेरे भाई का क्या क़सूर था,जो इस हालात में तड़प रहा है।

अमित अभी जोधपुर के महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती है। हादसे में उसके हाथ-पैर औैर पेट का हिस्सा जल गया।
अमित अभी जोधपुर के महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती है। हादसे में उसके हाथ-पैर औैर पेट का हिस्सा जल गया।

इंटरनेट बंद, 10 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू
बुधवार सुबह भी जोधपुर जिले में इंटरनेट बंद रहा। बुधवार को कर्फ्यू के दौरान प्रतियोगी व विभिन्न स्कूलों में वार्षिक परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स, शिक्षकों और परीक्षा कार्य में लगे स्टाफ को आने-जाने की छूट रहेगी। परीक्षार्थियों को छोड़कर कर्फ्यू वाले 10 थाना क्षेत्रों में दो दिन स्कूलें और शिक्षण संस्थान भी बंद रहेंगे। कर्फ्यू क्षेत्रों को छोड़कर अन्य क्षेत्रों में शिक्षण संस्थाएं खुली रहेंगी। चिकित्सा आपातकाल, मेडिकल स्टाफ, बैंककर्मी, न्यायिक सेवाओं के कर्मचारी, पत्रकारों को परिचय पत्र दिखाने पर आने-जाने की अनुमति होगी। अन्य विशेष परिस्थितियों में सहायक पुलिस आयुक्त की परमिशन से भी आने-जाने में छूट रहेगी।

ये अहम खबरें भी पढ़ें-