• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Learned To Grow Mushrooms By Watching You Tube, Started Online Cultivation By Ordering Seeds Online, Ready 40 Bags Of 'Dhingari Mushroom' In A Month

बिलाड़ा के किसान को मिली सफलता:यू-ट्यूब देखकर सीखा मशरूम उगाना, ऑनलाइन बीज मंगवाकर बंद कमरे में शुरू की खेती, एक माह में तैयार कर दिए 40 बैग ‘ढिंगरी मशरूम’

बिलाड़ा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पहली कोशिश में 40 बैग तैयार हुए, अब बडे़ पैमाने पर लगाएंगे मशरूम - Dainik Bhaskar
पहली कोशिश में 40 बैग तैयार हुए, अब बडे़ पैमाने पर लगाएंगे मशरूम

बिलाड़ा के एक किसान ने अपने कृषि फार्म पर मशरूम उगाने में सफलता प्राप्त की है। एक माह बाद मशरूम तैयार हो गई और पहली कटिंग भी कर ली। इसमें सबसे बड़ी बात यह है कि ये खेती बंद कमरे में की गई और खेती से जुड़ी सब जानकारी इंटरनेट व यूट्यूब पर से ली गई। बीज भी ऑनलाइन मंगवाए गए थे। पहले ही प्रयास में मशरूम उगने व सफलता मिलने के बाद अब किसान द्वारा बड़े पैमाने पर मशरूम उगाने की तैयारी में है।

बीजासनी रोड पर स्थित सोढ़ा कृषि फार्म के अधिवक्ता नारायणसिंह सोढ़ा ने बताया की अलानूर शेख के सहयोग से उन्होंने मशरूम उगाने में सफलता प्राप्त की। इनके द्वारा उगाई गई मशरूम ढिंगरी मशरूम है। उन्होंने बताया कि ये किस्म न्यूट्रिशन से भरपूर होती है। इसे खाने से कोलेस्ट्रोल व फैट कंट्रोल में रहता है।

बंद कमरे में होती है मशरूम की पैदावार

अधिवक्ता नारायणसिंह सोढ़ा व अलानूर ने बताया कि मशरूम बंद कमरे में उगाई जाती है। इसके लिए गेहूं के भूसे में आवश्यक दवाइयां डालकर खाद तैयार की। फिर बीज सहित बैग में भरकर बंद कमरे में बैग को लटकाए जाते हैं। सोढ़ा व अलानूर ने 15 दिन तक कमरे को बंद रखा। इसके बाद रोजाना एक घंटा खिड़की खोलने लगे और पानी का छिड़काव किया। एक माह बाद मशरूम उग आई।

पहली कोशिश में 40 बैग तैयार हुए, अब बडे़ पैमाने पर लगाएंगे मशरूम

अधिवक्ता सोढ़ा व अलानूर ने बताया की प्रायोगिक तौर पर पहली बार 40 बैग तैयार किए हैं। अब ये लोग सितंबर के महीने में बड़े पैमाने पर इसे फिर से उगाएंगे। बीज, भूसा, दवाइयों व बैग पर करीब 2 रुपए खर्च हुए। उन्होंने बताया की एक बार में लगभग 10-15 किग्रा मशरूम की पैदावारहो जाती है। बाजार में इस मशरूम के 150-200 प्रति किलो के भाव हैं।

किसान का प्रयास सराहनीय

किसान द्वारा मशरूम उगाने का बहुत अच्छा प्रयास किया गया है। गिली मशरूम 150 रुपए प्रति किलो में बिकती है, जबकि सूखी के भाव 1200-1500 रुपए प्रति किग्रा है। बटर मशरूम के लिए 15 से 18 डिग्री तापमान चाहिए, जबकि ढिंगरी मशरूम के लिए 25 से 35 का तापमान में हो जाती है। ये सितंबर से मार्च तक उगाई जा सकती है। हम किसानों को प्रशिक्षण भी देते है व रंगीन लिटरेचर भी देते है।

-डॉ. एसके सिंह, विभागाध्यक्ष प्लांट इंप्रूवमेंट व पेस्ट मैनेजमेंट काजरी

खबरें और भी हैं...