पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भारतीय सेना:लेफ्टिनेंट जनरल पी एस मन्हास ने कोणार्क कोर की बागडोर संभाली

जोधपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मन्हास। - Dainik Bhaskar
लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मन्हास।
  • लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने सौंपा कार्यभार

लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने शुक्रवार को कोणार्क कोर की बागडोर लेफ्टिनेंट जनरल पी एस मन्हास को सौंप दी। लेफ्टिनेंट जनरल पुरी ने अपने एक वर्ष के कार्यकाल के दौरान कोणार्क कोर को श्रेष्ठता की अधिक ऊंचाईयों तक पहुंचाया। लेफ्टिनेंट जनरल पी एस मन्हास मध्य भारत हार्स में कमीशन हुए थे। चार दशकों के अपने सेवा करियर के दौरान, उन्होंने भारत और विदेशों में प्रतिष्ठित कमांड, स्टाफ और प्रशिक्षक के रूप में अपनी सेवाएं प्रदान की हैं।

लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने शुक्रवार को कोणार्क कोर की बागडोर लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मन्हास को सौंपते हुए।
लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने शुक्रवार को कोणार्क कोर की बागडोर लेफ्टिनेंट जनरल पीएस मन्हास को सौंपते हुए।

लेफ्टिनेंट जनरल पी एस मन्हास सैन्य पृष्ठभूमि से हैं। वह भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून के पूर्व छात्र हैं, जहां उन्हें अपने पाठ्यक्रम में सर्वश्रेष्ठ ऑल-राउंड प्रदर्शन के लिए प्रतिष्ठित स्वार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया था। उन्होंने इजराइली सीमा पर लेबनान में संयुक्त राष्ट्र बल के साथ सेवा की है और वाशिंगटन डीसी में प्रतिष्ठित नेशनल वार कॉलेज कोर्स में भाग लिया है। वह भारत में रक्षा और सामरिक अध्ययन में महारत रखते है। इससे पहले, अपने उत्कृष्ट करियर में, उन्होंने एक आर्मर्ड ब्रिगेड और एक आर्मर्ड डिवीजन की कमान संभाली है। उन्होंने अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक नियंत्रण रेखा के कामेंग सेक्टर में फ्रंटलाइन व सेंसिटिव ब्रिगेड के ब्रिगेड मेजर के रूप में भी काम किया है।

पने नए कार्यभार से पहले, वह मध्य भारत क्षेत्र के जनरल ऑफिसर कमांडिंग थे, जिनकी जिम्मेदारी के क्षेत्र में मध्य भारत में छह राज्य थे। कोविड-19 महामारी के दौरान मध्यभारत क्षेत्र का उनका संचालन वास्तव में सराहनीय है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

और पढ़ें