• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Meeting The Complainant, Calling The Patwari From His Chamber And His Own Driver, The Tehsildar Came Under The Siege Of These Links.

भ्रष्टतंत्र की करतूत:फरियादी से मुलाकात, अपने चैंबर से पटवारी को फोन व खुद का ड्राइवर इन्हीं कड़ियों से घेरे में आया तहसीलदार

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भूमिका संदिग्ध नजर आते ही तहसीलदार के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज। - Dainik Bhaskar
भूमिका संदिग्ध नजर आते ही तहसीलदार के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज।

तहसील कार्यालय में घूस लेते पकड़े गए तहसीलदार के पियोन, चालक व सहयोगी को मंगलवार को एसीबी कोर्ट में पेश किया गया। यहां से तीनों को 24 दिसंबर तक जेल भिजवा दिया गया। एसीबी (सिटी) सीआई रूपसिंह चारण ने बताया कि ब्यूरो कार्यालय जयपुर में तहसीलदार की भूमिका को संदिग्ध मानते हुए तीनों आरोपियों समेत तहसीलदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया। मामले के अनुसार बनाड़ क्षेत्र की एक जमीन की तरमीम करने के हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद तहसील के कारिन्दों ने तहसीलदार के नाम से पचास हजार रुपए की रिश्वत मांग ली थी। जिस पर सहयोगी के पास से 50 हजार रुपए रिश्वत की राशि बरामद की गई। मामले में तहसीलदार दीपक सांखला की भूमिका संदिग्ध मानी गई, जिसकी जांच की जा रही है।

{परिवादी केवलराम अपने काम के लिए तहसीलदार कार्यालय पहुंचा, जहां मदन सिंह से फोन पर पहले ही परिवादी से सबकुछ बात हो चुकी थी। जमीन की तरमीम की एवज में 50 हजार रुपए की मांग की गई थी। जिस पर तहसीलदार से मिलने परिवादी पहुंचा था। {कमरे में रुपए कम करने की बात भी हुई थी, लेकिन रुपए कम नहीं किए। वहीं तहसीलदार ने पटवारी को फोन कर जमीन की मौका रिपोर्ट जल्द तैयार करने की बात भी कही थी। { हालांकि तहसीलदार दीपक सांखला ने भास्कर को बताया कि उनका रुपयों के लेन-देन में कोई लेना-देना नहीं है। हां, ये जरूर है कि परिवादी के काम के लिए उन्होंने पटवारी को फोन किया था। लेकिन परिवादी से मुलाकात बंद कमरे में नहीं बल्कि कमरे के बाहर हुई थी। 1. कॉल डिटेल खंगाली जाएगी : तहसीलदार की भूमिका पूरी तरह से संदिग्ध लगने पर मुकदमा मं गलवार को दर्ज हो गया। अब तीनों आरोपियों समेत तहसीलदार दीपक सांखला के मोबाइल की भी कॉल डिटेल खंगाली जाएगी। किस-किससे कब-कब कितनी बार बात की, इसकी पूरी जानकारी लेकर इसे जांच के दायरे में लिया जाएगा। 2. आवाज के नमूने लेकर, टेस्टिंग होगी : तहसीलदार सांखला की कॉल डिटेल में आए वॉइस व आवाज के नमूने लिए जाएंगे। इसके बाद एसीबी कोर्ट में इन दोनों आवाज के सैंपल की टेस्टिंग की जाएगी। इसके साथ ही तहसीलदार को अब एसीबी के बुलाने पर कार्यालय पहुंचना होगा। जांच में दोषी मिलने पर तहसीलदार के खिलाफ कार्रवाई होना तय है। 3. गवाहों के अलग-अलग होंगे बयान : पकड़े आरोपियों समेत तहसीलदार के खिलाफ गवाही देने वालों के अलग-अलग बयान लिए जाएंगे। वहीं इन चारों से भी एसीबी अलग-अलग पूछताछ करेगी। गवाहों के बयान व जांच में आई रिपोर्ट ही अब आगे की कार्रवाई तय करेंगे।

शहर के एक परिवादी केवलराम ने एसीबी के समक्ष शिकायत दी कि बनाड़ की अपनी जमीन का जेडीए से लंबे अरसे तक पट्टा जारी नहीं हुआ। मार्च 2021 में हाईकोर्ट ने तहसीलदार को मौका मुआयना कर तरमीम रिपोर्ट का आदेश दिया। इसके बावजूद पट्‌टा नहीं मिला। तहसीलदार के ड्राइवर मदनसिंह ने तहसीलदार से काम कराने के 50 हजार मांगे। केवलराम ने तहसीलदार से राशि कम करने का कहा जिस पर सहमति भी जता दी। ड्राइवर मदनसिंह, पियोन भोपालसिंह के साथ हिम्मतसिंह को एसीबी ने राशि के साथ गिरफ्तार कर लिया।

खबरें और भी हैं...