डेंगू को मौसम की मात:25 डिग्री से नीचे पारा आते ही होगा मच्छरों का ‘खात्मा’

जोधपुर3 महीने पहलेलेखक: मनोज कुमार पुरोहित
  • कॉपी लिंक
विशेषज्ञों के अनुसार जैसे जैसे अधिकतम तापमान में गिरावट आएगी, उसी रफ्तार से डेंगू का प्रकोप भी घटेगा। - Dainik Bhaskar
विशेषज्ञों के अनुसार जैसे जैसे अधिकतम तापमान में गिरावट आएगी, उसी रफ्तार से डेंगू का प्रकोप भी घटेगा।

प्रदेश में डेंगू का कहर है, अस्पताल में लंबी कतारें व वार्ड फुल। ब्लड बैंक में प्लेटलेट्स के लिए घमासान। टेस्टिंग के लिए निजी व सरकारी लैब्स के बाहर लाइनें। चारों तरफ अफरा-तफरी। चिकित्सा विभाग व नगर निगम के संसाधन नाकाफी साबित हो रहे हैं। इन सबके बीच राहत भरी बात यह है कि प्रदेश भर में अगले एक सप्ताह में तापमान में गिरावट का दौर शुरू होगा।

इसके साथ ही डेंगू के मरीजों के संख्या में भी गिरावट का दौर शुरू हो जाएगा। विशेषज्ञों की मानें तो जैसे जैसे अधिकतम तापमान में गिरावट आएगी, उसी रफ्तार से डेंगू का प्रकोप भी घटेगा। अधिकतम तापमान 25 डिग्री तक पहुंचने पर डेंगू समाप्त हो जाएगा।

मौसम विज्ञानियों के अनुसार प्रदेश के अधिकांश शहरों का अधिकतम तापमान 15-20 नवंबर के आसपास 25 डिग्री से नीचे चला जाएगा। इसके साथ ही घरों के हौद, ओवरहेड टैंक आदि में भरे पानी का तापमान जब 25 डिग्री से नीचे होगा तो नए मच्छरों का पनपना समाप्त हो जाएगा।

तापमान पर मौसम वैज्ञानिकों का तर्क

  • शहर का अधिकतम व न्यूनतम तापमान उत्तरी-पूर्वी क्षेत्रों में बर्फबारी के बाद कम होता है। वहीं वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ के असर के बाद उत्तरी हिस्सों में बर्फबारी हो गई है, तापमान उतरने लगा है। वहीं एक-दो और बर्फबारी के बाद ही अधिकतम तापमान में 25 डिग्री तक की गिरावट आएगी।
  • प्रदेश में तापमान में गिरावट का दौर नवंबर माह की शुरुआत से होता है। इस वर्ष प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में तापमान में गिरावट तो शुरू हो गई है, लेकिन शहरों के अधिकतम तापमान 25 डिग्री पहुंचने का दौर 10 नवंबर से शुरू होगा और 20 नवंबर तक तापमान 25 डिग्री के नीचे उतरने की संभावना है।

मेडिकल साइंस की रिसर्च

  • मेडिकल साइंस के अनुसार अधिकतम तापमान जब 250 सेल्सियस के नीचे पहुंचता है तो डेंगू का मच्छर खत्म होना शुरू हो जाता है। वर्तमान में प्रदेश के शहरों का अधिकतम तापमान 28-300 सेल्सियस चल रहा है। पारा 250 पहुंचने के बाद ही डेंगू खत्म होगा।
  • साफ पानी जहां भी जमा रहेगा, वहां मच्छर तब तक पनपेंगे, जब तक पानी का तापमान 250 सेल्सियस तक नहीं पहुंच जाए।