पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एम्स में समारोह:इंडस्ट्रीज में इनोवेशन और तकनीकी कौशल बढ़ाने को आईआईटी और जेआईए में हुआ एमओयू

जोधपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • }अपशिष्ट प्रबंधन और अन्य तकनीकी समस्याओं को हल करने के लिए यह एमओयू हुआ

आईआईटी जोधपुर के निदेशक प्रो. शांतनु चौधरी और जोधपुर इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अध्यक्ष एनके जैन ने रविवार को एम्स में हुए समारोह में एमओयू साइन किया। विज्ञान और बदलती तकनीक के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए, अनुसंधान और विकास में वृद्धि, उत्पाद की गुणवत्ता और उत्पादकता में सुधार, अपशिष्ट प्रबंधन करके अपशिष्ट को कम करना और अन्य तकनीकी समस्याओं को हल करने के लिए यह एमओयू हुआ।

इस अवसर पर आईआईटी जोधपुर के सिटी नॉलेज एंड इनोवेशन क्लस्टर की अग्रणीय शोध संस्थानों जैसे एम्स, काजरी, डीआरडीओ, इसरो, डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज इत्यादि के साथ भी एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। आईआईटी निदेशक प्रो. चौधरी ने कहा कि यह समय है कि सभी अकादमिक संस्थान उद्योग के साथ एक मंच पर आए हैं और समाज के लाभ के लिए तेजी से बदलती तकनीक पर विचार करने के लिए मिलकर कार्य करेंगे।

जेआईए अध्यक्ष जैन ने कहा कि वे पिछले 25 वर्षों से अर्थात जब पहली बार जेआईए के सचिव बने थे तब से संस्थानों और उद्योग की बातचीत की बुनियादी जरूरत का का समर्थन करते आ रहे हैं।

इस अवसर पर जोधपुर सिटी नॉलेज एंड इनोवेशन क्लस्टर सीईओ डॉ. जीएस टोटेजा, आईआईटी जोधपुर उपनिदेशक प्रो. संपतराज वडेरा, एम्स जोधपुर निर्देशक डॉ. सजीव मिश्रा, इसरो महाप्रबंधक डॉ. एसएस राव, डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. एसएस राठौड़, आईसीएमआर-एनआईआईआरएनसीडी के निर्देशक डॉ. अरुण कुमार शर्मा सहित जेआईए की ओर से सहसचिव अनुराग लोहिया, कोषाध्यक्ष सोनू भार्गव, सहवरण राजेश जीरावला, मुकेश माहेश्वरी व विश्रुत जैन मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...