पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नवरात्री महोत्सव:मंदिरों में ‘नो एंट्री’, घरों में घट स्थापना किले की प्राचीर से आरती के दर्शन, मंदिरों में पुजारियों ने किए अनुष्ठान,

जोधपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भक्तों ने किले के बाहर से लगाई धोक

अश्विन शुक्ल प्रतिपदा तदनुसार शनिवार से शारदीय नवरात्रा शुरू हो गए। इस मौके पर घरों और मंदिरों में घट स्थापना व हवन करके मां दुर्गा की पूजा-अर्चना की गई। इस दौरान मेहरानगढ़ फोर्ट स्थित मां चामुंडा मंदिर में भक्तों को दर्शनार्थ प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई। लोगों ने किले की पार्किंग व बेरिकेड्स के पास से ही मां चामुंडा का धोक लगाकर प्रसाद चढ़ाया।

वहीं मेहरानगढ़ किले में मां चामुंडा की पूजा के दौरान 11 धमाके किए गए। साथ ही सांझ की आरती किले की दीवार पर दर्शन के लिए रखी गई और शाम पौने सात बजे आरती के दर्शन के लिए सोशल मीडिया पर भी लाइव व्यवस्था की गई।

वहीं शहर के संतोषी माता मंदिर, चांदणा भाकर स्थित माताजी मंदिर, आखलिया चौराहा स्थित माताजी मंदिर, जूना खेड़ापति मंदिर में भी मां दुर्गा की पूजा की गई। पुलिस लाइन में पुलिस बैंड ने माताजी के भजन और आरती की प्रस्तुति दी। शहर के अधिकतर मंदिरों में भक्तों का प्रवेश निषेध होने से आदि शक्ति के मंदिरों में भक्त माताजी के दर्शन नहीं कर सकें।

मेहरानगढ़ फोर्ट म्यूजियम ट्रस्ट के निदेशक करणीसिंह जसोल ने बताया कि मां चामुंडा मंदिर में नौ दिन तक लगातार सुबह से रात तक मां दुर्गा सप्तशती का पाठ निरंतर चलेगा। साथ ही नवरात्रा तक रोजाना शाम को किले की दीवार पर आरती के दर्शन कर सकेंगे।
शहर में इस बार नहीं है गरबों की धूम
इस बार कोरोना के कारण शहर में गरबा आयोजकों ने गरबा रास का आयोजन नहीं किया। कहीं पर भी शाम को गरबा डांस और संगीत सुनने को नहीं मिला। हर साल हजारों युवा गरबा का इंतजार करते हैं, लेकिन इस बार कोरोना के कारण इनके आयोजन नहीं हो सके।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें