आयुर्वेद नर्स व कंपाउंडर भर्ती का मामला:अस्पताल में कार्यरत नहीं, अनुभव प्रमाण पत्र दिया, उप निदेशक और HO निलंबित

जोधपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बोनस अंक नहीं मिलने पर दायर की याचिका। - Dainik Bhaskar
बोनस अंक नहीं मिलने पर दायर की याचिका।

आयुर्वेद नर्स व कंपाउंडर भर्ती परीक्षा 2021 में शामिल दो अभ्यर्थियों को बोनस अंक नहीं मिले तो हाईकोर्ट में शरण ली। यहां सुनवाई के दौरान नया तथ्य सामने आया कि यह दोनों अस्पताल में कार्यरत नहीं होकर रोगी कल्याण समिति में निशुल्क सेवाएं दे रहे थे। इसके बावजूद अनुभव प्रमाण पत्र जारी करने पर आयुर्वेद विभाग के निदेशक ने आयुर्वेद विभाग पाली के उप निदेशक गणपतलाल बोहरा व आयुर्वेद चिकित्साधिकारी सादड़ी को निलंबित कर दिया।

इस जानकारी से एएजी अनिल गौड़ ने हाईकोर्ट को अवगत करवाया। मामले में अगली सुनवाई 2 दिसंबर को होगी।याचिकाकर्ता ललित मेघवाल ने आयुर्वेद नर्स व कंपाउंडर भर्ती में आवेदन किया था। बोनस अंक के लिए सादड़ी के आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी अनुभव प्रमाण पत्र लगाया गया। इस पर उप निदेशक के काउंटर साइन थे, लेकिन यह प्रमाण पत्र रोगी कल्याण समिति में सेवाएं देने पर जारी किया गया था, इसलिए आयुर्वेद विवि ने बोनस अंक देने से इनकार कर दिया।

एनएचआरएम या संविदा के रूप में कार्यरत रहने पर ही बोनस अंक देने का प्रावधान है, जिस पर यह याचिका दायर की गई। याचिका की सुनवाई के दौरान यह तथ्य सामने आया कि ऐसा अनुभव प्रमाण पत्र जारी करने का अधिकार नहीं होने के बावजूद उसे जारी कर दिया गया। इस पर कोर्ट ने संबंधित अधिकारियों के खिलाफ एक्शन के बारे में अवगत कराने को कहा। एएजी अनिल गौड़ ने कोर्ट को बताया कि दोनों ही अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। आयुर्वेद विवि की ओर से अधिवक्ता सुनील पुरोहित ने पैरवी की।

खबरें और भी हैं...