• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Now Children Will Be Able To Know About The Country's Civilization architecture, Great Men And Gods And Goddesses From The Blocks

बाल दिवस विशेष:अब ब्लॉक्स से देश की सभ्यता-स्थापत्य, महापुरुषों और देवी-देवताओं के बारे में जान सकेंगे बच्चे

जोधपुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नई पीढ़ी को कार्टून केरेक्टर्स से इतर संस्कृति से रूबरू करवाने की पहल। - Dainik Bhaskar
नई पीढ़ी को कार्टून केरेक्टर्स से इतर संस्कृति से रूबरू करवाने की पहल।

दो-तीन साल का होने के बाद बच्चों में ब्लॉक्स सबसे प्रिय खिलौनों में से एक है। इन्हें जोड़ने से उनमें खेल-खेल में अल्फाबेट, जानवरों और कार्टून केरेक्टर्स के बारे में समझ विकसित होती है। अब इन्हीं ब्लॉक्स के जरिए बच्चों को देश की संस्कृति, सभ्यता व स्थापत्य के साथ-साथ महापुरुषों व देवी-देवताओं के बारे में भी पढ़ाया जा सकेगा। ये पहल करने वाली कंपनी ने फिलहाल भगवान गणेश व शिव मंदिर से जुड़े ब्लॉक्स बाजार में उतारे हैं।

कुछ ही दिनों में देश की प्रसिद्ध बावड़ियों, मॉन्यूमेंट्स और मंदिरों के ब्लॉक्स भी आएंगे। दरअसल, आज के दौर की नई पीढ़ी देश की विरासत, संस्कृति व सभ्यता से दूर होती जा रही हैं। ऐसे में उन्हें इनसे जोड़ने के लिए बचपन से ही इनका ज्ञान करवाना जरूरी है। इसी को देखते हुए इस कंपनी ने ब्लॉक्स के सेटअप को भारतीय रंगों से रंगा है। वर्तमान में ऐसी दो-तीन थीम को ब्लॉक्स में उतारा है और आने वाले समय में प्रसिद्ध इमारतों व बावड़ियों को भी जोड़ा जाएगा।

कंपनी की फाउंडर मूलत: सुजानगढ़ व हाल बेंगलुरु निवासी मेघना ने बताया कि बदलते परिवेश में खासकर मेट्रो शहरों के बच्चों में पश्चिमी संस्कृति के प्रति ही लगाव है। उनका संसार स्पाइडरमैन, डोरेमोन, पोकेमॉन, बार्बी, एवेंजर्स, बैटमैन, स्टारवार्स व डिज्नी आदि से ही भरा हुआ है। उनके कलेक्शन में भारतीय थीम वाले पात्र या खिलौने ना के बराबर है।

ऐसे में नई पीढ़ी के मन में भारतीयता बसाने के लिए यह प्रयास किया गया है। अभी हमने भगवान गणेश और शिव मंदिर के ब्लॉक्स बनाए हैं। गणेश का आकृति 400 ब्लॉक को जोड़कर बनाई जा सकती हैं। वहीं शिव मंदिर में यह संख्या 10 हजार से ज्यादा है। अब चांदबावड़ी, राममंदिर, शिवा व कृष्णा आदि ब्लॉक्स में उतारे जाएंगे।

मजेदार-रोमांचक ब्लॉक्स से देश के बारे में आसानी से जानेंगे बच्चे
कोरोनाकाल में हमने यह सोचा कि हम भारत की समृद्ध विरासत और संस्कृति को बच्चों के लिए रोचक कैसे बना सकते हैं। हमें बिल्डिंग ब्लॉक्स में इसका जवाब मिला। अब मजेदार और रोमांचक ब्लॉक्स के जरिए बच्चों को देश के बारे में आसानी से पढ़ाया जा सकेगा। - मेघना, ब्लॉक्स बनाने वाली कंपनी की फाउंडर

खबरें और भी हैं...