पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना कर्मवीर:घर लौटते हुए कुत्ते ने पैर पर दांत गड़ाए, अस्पताल जाते हुए कॉल आया, पहले दाह संस्कार कराने पहुंचे

जोधपुर12 दिन पहलेलेखक: राजेश त्रिवेदी
  • कॉपी लिंक
नवीन पुरोहित - Dainik Bhaskar
नवीन पुरोहित
  • जनरल स्टोर संचालक पुरोहित का जज्बा, संक्रमित शवों का करवा रहे दाह संस्कार

शहर में भीमजी की हथाई के पास जनरल स्टोर की छोटी सी दुकान चलाने वाले नवीन पुरोहित कोरोना संक्रमितों का दाह संस्कार कर सेवा कार्य कर रहे हैं। 1 अप्रैल से अब तक 135 दाह संस्कार कर चुके हैं। इनमें अधिकांश संक्रमित थे। उनमें सेवा के जज्बे का अंदाजा इसी बात से लग सकता है कि वे इसमें खाना-पीना तक तो भूल ही जाते हैं।

पुरोहित रविवार को सुबह 11 बजे सिवांची गेट स्थित पुष्करणा समाज श्मशान घाट पर कोरोना संक्रमित शव का दाह संस्कार कर खाना खाने घर गए। लौटते समय घर के कुछ आगे एक कुत्ते ने उनके पैर पर काट लिया। इससे खून निकलने लगा। तभी जेब में रखा मोबाइल बजा। गूंदी मोहल्ले से एक व्यक्ति ने फोन पर कहा कि कोरोना संक्रमित पूजा का दाह संस्कार करना है। उन्होंने बिना सोचे कहा- दस मिनट में आया। इतने में एक और फोन आया, कहा- हाथी चौक में रहने वाले मुरली मनोहर व्यास का निधन हो गया है।

तब वे पहले हाथी चौक पहुंचे। यहां शव के लिए सीढ़ी तैयार करने के बाद वे सीधे सिवांची गेट श्मशान घाट गए। यहां कोरोना संक्रमित पूजा के शव का दाह संस्कार पूरा करवाया। फिर मुरली मनोहर व्यास का दाह संस्कार करवाया। फिर पैर में दर्द होने पर वे महात्मा गांधी अस्पताल पहुंचे। अस्पताल में करीब एक घंटे उपचार के बाद मोबाइल चालू किया, तभी जालोरी गेट थानवी बिल्डिंग से फोन आया। बोले- कोराेना संक्रमित प्रेमलता का निधन हो गया है। इस पर वे घर लौटने की बजाय सीधे सिवांची गेट श्मशान गए और दाह संस्कार पूरा करवाया।

पत्नी ने पूछा तो बताया- स्लिप हो गया था
नवीन ने कुत्ते के काटने की बात पत्नी सहित परिजनों से छिपाई, ताकि कोरोना संक्रमित शव के दाह संस्कार में कोई बाधा नहीं पहुंचे। नवीन शाम को घर लौटे तो पत्नी मनीषा फटी पेंट व खून के धब्बे देखकर बोलीं- यह क्या हुआ। तब नवीन ने कहा- कुछ नहीं, स्लिप हो गया था। पत्नी बोली- टीटी लगवाया या नहीं... नवीन ने कहा- इंजेक्शन लगवा लिया है...अब ठीक है। अस्पताल की पर्ची दिखाई तो पत्नी भी मान गई। रात 12 बजे फोन आया, बोले- चौहाबो निवासी पुष्पा व्यास का कोरोना से निधन हो गया है। वे रात को ही श्मशान पहुंचे और पीपीई किट पहनकर दाह संस्कार करवाया। वहां से निकले तो शास्त्रीनगर से फोन आया... बोले- किस्तूरचंद की कोरोना से निधन हो गई है। आप सोमवार को सुबह दाह संस्कार करवा देंगे। उन्होंने कहा- 9-10 बजे तक आ जाना।

परिवार में विरोध पर अपने फैसले पर अड़े
नवीन बताते हैं कि इस बार कोरोना से ज्यादा लोग मर रहे हैं। गत कोरोनाकाल में जब कोरोना संक्रमित शव के दाह संस्कार को कोई आगे नहीं आया तब उन्होंने कोरोना संक्रमित शव का खुद दाह संस्कार करने का फैसला किया था। हालांकि परिवार में बात की तो थोड़ा विरोध हुआ, लेकिन वे अपनी बात पर अड़े रहे। पूरे कोरोनाकाल में अकेले ही पीपीई किट पहनकर पुष्करणा समाज के श्मशान घाट पर करीब 350 शवों का दाह संस्कार कर चुके हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें