पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • On The Very First Day Of Nomination, The Crowds Gathered, Nominations Were Won, Voters Took The List, Collectorate, 333 Forms Took The Contenders.

नगर निगम चुनाव:नामांकन के पहले ही दिन भीड़ उमड़ी नामांकन जीराे, वोटर लिस्ट ले गए, कलेक्ट्रेट, 333 फाॅर्म ले गए दावेदार

जोधपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नगर निगम चुनाव 2020 की लोक सूचना बुधवार को जारी होते ही शहर में चुनाव का टी-20 क्रिकेट जैसा माहौल बन गया। पूरी चुनावी प्रक्रिया करवाकर 3 नवंबर तक परिणाम भी घोषित होने हैं। ऐसे में आवेदन, नाम चयन, प्रचार, आचार संहिता, चुनाव और परिणाम... ये सारी प्रक्रियाएं भी फटाफट तरीके से 20 दिन में पूरी हाेंगी।

निर्वाचन आयोग ने बुधवार काे काेराेना काल के बीच जोधपुर के दाे निगमों के 160 वार्डों में चुनाव की लोक सूचना जारी कर दी। इसके साथ ही नामांकन पत्र जमा करवाने की प्रक्रिया शुरू हो गई। पहले दिन ही दिन कलेक्ट्रेट और निगम परिसर में बैठे 16 रिटर्निंग अधिकारियों के ऑफिसों में दावेदाराें की भीड़ उमड़ पड़ी, लेकिन किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन दाखिल नहीं किया। संभावित प्रत्याशी 333 फाॅर्म ले गए। निगम उत्तर से 167 और दक्षिण से 166 फाॅर्म जारी हुए। वहीं दूसरी ओर संबंधित वार्ड की वोटर लिस्ट की फोटो कॉपी लेने के लिए तीनों ही विधानसभा क्षेत्र के ऑफिस के बाहर भीड़ लगी रही।

फाॅर्म जमा करने से पहले कटानी हाेगी धरोहर राशि की रसीद
पार्षद पदों के लिए नामांकन लेने के लिए रिटर्निंग अधिकारी के कक्ष में दावेदार पहुंचे। निशुल्क होने के कारण फाॅर्म ले जाने की सीमा नहीं थीं। महिला दावेदार पति और रिश्तेदारों के साथ नाम निर्देशन पत्र लेने आईं। फाॅर्म देने के दौरान आरओ ऑफिस में नाम, पता, वार्ड और मोबाइल नंबर दर्ज किए गए। प्रत्याशियों काे फाॅर्म जमा करवाने से पहले धरोहर राशि की रसीद कटवानी हाेगी, जिसके लिए एक या दो दिन बाद कलेक्ट्रेट में आवेदकों की भीड़ लग सकती है। सामान्य श्रेणी के प्रत्याशी को छह हजार और एससी व एसटी वर्ग के प्रत्याशी को तीन हजार रुपए बतौर सिक्यूरिटी राशि जमा करवानी होगी।
पार्षद से पहले काेराेना प्रत्याशी न बन जाए ये दावेदार
तीनाें विधानसभा क्षेत्र के ऑफिसों में वोटर लिस्ट की कॉपी लेने के लिए दावेदारों व समर्थकों की भीड़ उमड़ती रही। एडीएम सिटी ऑफिस की छत पर वोटर लिस्ट लेने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती रही। कई ने ताे मास्क भी नहीं पहना था। यहां इन्हें रोकने वाला कोई नहीं था। ऐसी ही स्थिति अन्य विधानसभा क्षेत्रों के ऑफिस में भी थी।

खबरें और भी हैं...