पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

#वीकेंडलाॅकडाउन:आज-कल सिर्फ दवा व दूध की दुकानें ही खुलेंगी

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉकडाउन में ये कैसा लॉजिक? रहना तो घर पर ही है, लेकिन एक दिन पहले लोग पेट्रोल भरवाने उमड़ पड़े !

जोधपुर शहर में प्रशासन की ओर से शनिवार और रविवार को लॉकडाउन रहेगा। पूर्व संध्या पर शुक्रवार शाम शहर में आश्चर्यजनक दृश्य दिखा। लॉकडाउन में लोगों को घरों पर ही रहना है, इसके बावजूद लोग वाहनों में पेट्रोल भरवाने पंपों पर उमड़ पड़े। आश्चर्य की बात यह है कि लॉकडाउन में वाहनों को भी निकलने की मनाही है, इसके बावजूद लोगों में ईंधन भरवाने की आपाधापी दिखी।

शहर में बढ़ते काेराेना काे रोकने के लिए शहर में दाे दिन का लॉकडाउन शुक्रवार रात आठ बजे से शुरू हाे गया, जाे रविवार सुबह छह बजे तक जारी रहेगा। यानी हमारा वीकेंड (शनिवार व रविवार) घर में ही बीतेगा। ये लॉकडाउन जोधपुर नगर निगम के अलावा पाल गांव, सांगरिया, झालामंड, खारड़ा रणधीर, बासनी बेंदा, उचियारड़ा, नांदड़ा कलां, नांदड़ा खुर्द, श्रीयादे गांव, नांदड़ी, बनाड़, गुजरातवास, आंगणवा, खोखरिया, सुरपुरा, दईजर, चौखा, धीनाणा की ढाणी, कुड़ी भगतासनी राजस्व गांव में लागू रहेगा, जाे सोमवार सुबह 6 बजे खुलेगा। इस दौरान सिर्फ दूध और दवा की दुकानें ही खुलेंगी। किराणा और सब्जी की दुकानें भी बंद रहेंगी।

बिना अनुमति बाहर निकलने पर होगी कार्रवाई, 17 आवश्यक श्रेणी से जुड़े लोगों को ही छूट

  • चिकित्सा एवं अन्य आपातकालीन स्थिति में कोई भी व्यक्ति।
  • दवा की दुकानों के मालिक और स्टाफ।
  • एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड से व्यक्तियों के घर और गंतव्य तक जाने के लिए सार्वजनिक परिवहन के साधन।
  • बैंक, एटीएम, डेयरी व दूध वितरण केंद्र (हाेम डिलीवरी नहीं), पेट्रोल पंप व एलपीजी आउटलेट। गैस सिलेंडर, खाद्य सामग्री, दवाइयों की होम डिलीवरी से संबंधित व्यक्ति व वाहन।

अनुमति वाले लोग पहचान पत्र से आ-जा सकेंगे

  • सभी तरह की दुकानें, जिनमें किराणा, मिठाई, रेस्टोरेंट नहीं खोल सकेंगे।
  • निजी वाहनों का अवागमन पूरी तरह बंद रहेगा, जिन्हें अनुमति दी है, वही आ-जा सकेंगे।
  • अनुमति वाले भी बिना पहचान पत्र के आवागमन नहीं कर सकेंगे।
  • धारा 144 होने से बाहर निकलने पर कार्रवाई।

शिक्षकों के आने पर पाबंदी नहीं
कर्फ्यूग्रस्त एरिया स्थित स्कूलों के शिक्षकों व स्टाफ को छूट रहेगी। संयुक्त निदेशक स्कूल शिक्षा प्रेमचंद सांखला ने बताया कि इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा तय गाइडलाइन के अनुसार शिक्षकों को पहले से ही बाहर रखते हुए आवागमन में छूट दी गई है। उधर, वे शिक्षक शुक्रवार की शाम बेहद परेशान रहे जो सामूहिक ऑटो या गाड़ी से स्कूल जाते हैं। उधर बैंक द्वितीय शनिवार व रविवार के चलते वैसे ही बंद रहेंगे। हालांकि कर्मचारी संघों का कहना है कि जब नगरीय सेवा बंद है तो शिक्षक कैसे आएंगे-जाएंगे?

त्योहार में पड़ेगा खलल

मंदिर लॉक, महिलाएं घर पर ही मनाएंगी ऊबछठ

विवाहिताओं और कुंवारी कन्याओं द्वारा रविवार को ऊबछठ लॉकडाउन में मनाई जाएगी। गौरतलब है कि प्रशासन ने शनिवार और रविवार को पूरे शहर में लॉकडाउन लगा रखा है। ऐसे में मंदिर बंद होने से दर्शन नहीं किए जा सकेंगे। गुरुवार को रात आठ बजे के बाद लॉकडाउन होने की वजह से भी महिलाएं रात को मंदिरों में दर्शन करने नहीं जा सकीं थीं।

अब रविवार को कर्फ्यू में ही ऊबछठ मनेगी। ऐसी स्थिति में व्रत करने वाली महिलाएं और कन्याएं मंदिरों में दर्शन नहीं कर पाएंगी। इस दिन महिलाएं शाम को पानी नहीं पीती है और मंदिरों में दर्शन को जाती हैं। इसके बाद रात में चांद दिखने पर उसकी पूजा कर व्रत का पारणा करती हैं, लेकिन इस बार वे कहीं पर भी नहीं आ जा सकेंगी।
झूला झूलने का विकल्प
जिन महिलाओं द्वारा यह व्रत किया जाता है और उनमें से किसी के पैर में दर्द हो अथवा खड़े रहने की स्थिति में नहीं हैं तो वे कुछ देर के लिए झूले पर बैठ सकती हैं। इसके लिए घरों में अस्थाई रूप से झूले भी लगाए जा रहे हैं।
इधर, लॉकडाउन लागू करने के फैसले के बाद प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता डॉ. अजय त्रिवेदी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर शहर के पारंपरिक त्योहार उबछठ पर महिलाओं को होने वाली परेशानी से अवगत करवाया और 9 अगस्त को शाम 5 बजे से चंद्र दर्शन तक व्रत करने वाली महिलाओं को लाॅकडाउन में छूट दिलवाने के लिए प्रशासन को निर्देश देने की मांग की।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें