700 विप्र प्रतिभाएं सम्मानित:आयुर्वेद विवि में महीने में 1 दिन पंचकर्म चिकित्सा निशुल्क

जोधपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

विप्र फाउंडेशन की ओर से डॉ.एसएन मेडिकल कॉलेज सभागार में रविवार को 700 विप्र प्रतिभाओं काे सम्मानित किया गया। आयोजकों ने अतिथियों के लिए मंच नहीं बनाया और सिर्फ कुर्सियां लगाईं ताकि पुरस्कार प्राप्त करने में कठिनाई ना हो। आयुर्वेद विवि के कुलपति प्रो.अजय शर्मा ने विवि में अब महीने में एक दिन पंचकर्म चिकित्सा की निशुल्क व्यवस्था करने की घोषणा की।

डॉ. क्षितिज महर्षि ने सचिन तेंदुलकर से हमें बेस्ट देने, उसेन बोल्ट से स्पीड को सीखने, माइकल फेलप्स से हमें जीतने की ललक और ओलिंपियन डेरेक रेग्मेन से हौसला रखने की बात सीखनी चाहिए। इन चारों का मिश्रण होगा तो परिवार और प्रोफेशन अच्छा चलेगा।

वरिष्ठ निर्यातक राधेश्याम रंगा ने कहा कि यह न सोचे की समाज ने क्या दिया, हमने समाज को क्या दिया इसको ध्यान में रखें। पुलिस विवि के कुलपति डॉ.आलोक त्रिपाठी ने प्रतिभाओं से कहा कि जीवन में सर्टिफिकेट का संघर्ष नहीं। संघर्ष का सर्टिफिकेट होना चाहिए।

वरिष्ठ अधिवक्ता हस्तीमल सारस्वत ने कहा कि बचपन में पढ़ाई और जवानी में कमाई में जीवन लग जाता है, लेकिन हमारे जीवन का कोई लक्ष्य जरूर होना चाहिए। सीके बिरला ग्रुप के जीएम विजय कुमार बासोतिया ने कहा कि प्रतिभाओं को प्रतियोगिता के दौर में खुद को कायम रखना चुनौती है।

परमेश्वर शर्मा ने कहा कि विप्र कुंड के लिए केंद्र सरकार ने 200 करोड़ रुपए दिए हैं। कार्यक्रम में डॉ. हेमलता पंचारिया, विप्र वाहिनी की राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रकांता राजपुरोहित, मनोहर पालीवाल, सत्यनारायण श्रीमाली, राष्ट्रीय युवा प्रभारी डॉ.रवि शंकर शर्मा, राष्ट्रीय सचिव नवीन जोशी,

कैलाश सारस्वत ने भी विचार रखे। समारोह में महिला प्रदेशाध्यक्ष डॉ. शीला आसोपा, अरविंद कुमार व्यास ने स्वागत भाषण दिया। वहीं बच्चों ने योग व नृत्य की शानदार प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष मुकुल अंगीरस व महेंद्र टाइगर ने आभार जताया। संचालन मनीष पंचारिया ने किया।

खबरें और भी हैं...