शिकंजे में हार्डकोर अपराधी राकेश मांजू:हिस्ट्रीशीटर विक्रम को गोली मारने वाले को पकड़ने के लिए 3 थानाधिकारियों की बनी थी टीम, गुजरात में मिली सफलता; आज पुलिस कर सकती है बड़ा खुलासा

जोधपुर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दो वर्ष पूर्व जेल में केक काट अपना जन्मदिवस मनाता राकेश मांजू। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
दो वर्ष पूर्व जेल में केक काट अपना जन्मदिवस मनाता राकेश मांजू। (फाइल फोटो)

शहर के डीपीएस चौराहा पर कुछ दिन पूर्व हिस्ट्रीशीटर विक्रम सिंह नांदिया पर फायरिंग कर फरार हुए हार्डकोर अपराधी राकेश मांजू को पुलिस ने दबोच लिया है। इसको लेकर पुलिस बुधवार को बड़ा खुलासा कर सकती है।कमिश्नरेट पुलिस के तीन थानाधिकारियों की टीम और स्पेशल टीम को उसे पकड़ने में सफलता हासिल की है। मुखबिरों की सूचना के आधार पर एक टीम को गुजरात के डीसा भेजा गया था। वहां के एक मकान में दबिश देकर पुलिस ने राकेश मांजू को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस उसे लेकर जोधपुर पहुंच चुकी है। पुलिस ने इसकी पुष्टि कर दी है।

सूत्रों के अनुसार, मांजू के डीसा में छिपे होने की सूचना 3 दिन पूर्व पुलिस को मिली थी। इसके बाद पुलिस की एक टीम ने वहां पहुंच उस मकान की रेकी की, जिसमें मांजू छिपा हुआ था। मंगलवार देर रात पुलिस ने मकान को चारों तरफ से घेर कर दबिश दी। मांजू ने भागने का प्रयास किया, लेकिन पहले से सतर्क टीम ने उसे दबोच लिया। मांजू को पकड़ते ही टीम कड़ी सुरक्षा में जोधपुर के लिए रवाना हो गई।

पुलिस को लंबे अरसे से इस हार्ड कोर अपराधी की तलाश थी। विक्रम नांदिया पर गोलियां दागने के बाद पुलिस ने मांजू को पकड़ने के पूरी ताकत झोंक दी। आखिरकार उसे सफलता मिली। राकेश मांजू पहले भी कई बार जेल जा चुका है।