महिला पटवारी ने ली एक लाख की रिश्वत:ACB की टीम को देख नोट हवा में उड़ा दिए, जो पड़ोसी की जाली में जाकर अटके; पत्थर की खदान की रिपोर्ट बनाने के लिए मांगे थे 2 लाख

जोधपुरएक वर्ष पहले
जोधपुर में गुरुवार को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़ी गई भ्रष्ट पटवारी सीमा रामावत।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो(एसीबी) ने गुरुवार सुबह एक भ्रष्ट पटवारी सीमा रामावत को ट्रैप किया। जो एक लाख रुपए की रिश्वत ले रही थी। महिला पटवारी ने पत्थर की खान की मौका रिपोर्ट बनाने के लिए दो लाख रुपए की मांग की थी। बाद में सौदा एक लाख रुपए में तय हुआ। एसीबी की टीम जब पटवारी सीमा को पकड़ने पहुंची तो उसने रिश्वत की राशि को ऊपर से नीचे फेंक दिया। एसीबी ने गिरफ्तार कर लिया।

एसीबी के डीआईजी विष्णुकांत ने बताया कि जोधपुर में आज जालोर के निरीक्षक राजेन्द्र सिंह के नेतृत्व में एसीबी की एक टीम ने पटवारी सीमा रामावत को गिरफ्तार किया है। जो जोधपुर जिले के कूरू गांव की पटवारी है। सीमा कई दिन से एसीबी की रडार पर थी। उसके खिलाफ शिकायत 11 अप्रैल को मिली थी। शिकायत का सत्यापन 23 जून को उसके निवास पर हुई बातचीत के आधार पर किया गया।

पत्थर की खदान की रिपोर्ट बनाने के लिए मांग रकम

उन्होंने बताया कि केरू गांव निवासी सुरेश कुमार जाट ने शिकायत दर्ज कराई कि उसने ईदु खान नाम के एक व्यक्ति से पत्थर की खान खरीदी है। इसके लिए उसे मौका रिपोर्ट की आवश्यकता थी। उसने पटवारी सीमा रामावत से संपर्क किया। सीमा ने रिपोर्ट बनाने के लिए दो लाख रुपए मांगे। कई दिन तक चली बातचीत के बाद सौदा एक लाख रुपए में तय हुआ। आज सुरेश कुमार एक लाख रुपए की रिश्वत देने सीमा रामावत के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड स्थित मकान पर पहुंचा।

टेबल पर रखी रकम, एसीबी को देख रुपए फेंके

सुरेश के रिश्वत लेने के बाद सीमा ने राशि वहीं टेबल पर रख दी। इसी दौरान एसीबी की टीम ने मकान में प्रवेश किया। एसीबी की टीम को देखते ही सीमा ने रिश्वत के एक लाख रुपए ऊपर से नीचे फेंक दिए। हवा में उड़ते हुए रुपए पड़ोसी मकान के ऊपर लगी नेट की जाली में जाकर बिखर गए। एसीबी की टीम ने रुपए बरामद कर लिए। वहीं, सीमा के हाथ धुलवाने पर रुपयों पर लगा गुलाबी रंग निकल आया। एसीबी की टीम उसे गिरफ्तार करने के साथ पूछताछ कर रही है। साथ ही उसके मकान की तलाशी ली जा रही है।

खबरें और भी हैं...