पुलिस को मिली सफलता:लक्जरी लाइफ स्टाइल देख पुलिस को हुआ संदेह, पकड़े गए चार शातिर, खुल गई बारह वारदातें

जोधपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जोधपुर ग्रामीण पुलिस की गिरफ्त में चार शातिर। - Dainik Bhaskar
जोधपुर ग्रामीण पुलिस की गिरफ्त में चार शातिर।

जोधपुर ग्रामीण पुलिस ने शातिर नकबजन गैंग का खुलासा करते हुए चार लोगों को पकड़ा है। पकड़े गए अभियुक्तों से पूछताछ में अब तक जिले भर की 12 से ज्यादा नकबजनी की वारदातें खुली है। इनकी पहचान शौक मौज और महंगी गाडिय़ों को देखते हुए की गई। नजर रखी जाने के बाद पकड़ा जा सका।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अनिल कयाल ने बताया कि पुलिस थाना फलोदी व जिला स्पेशल टीम द्वारा फलोदी सहित आस-पास के गांवों से रात्रि में चोरी करने वाले डेडीसरा निवासी दुर्गाराम उर्फ दुर्गेश, बरकत कॉलोनी फलोदी निवासी हजूर खां पुत्र मुस्ताक खां, डेडीसरा के ही जगदीश उर्फ जुगराज पुत्र कानाराम मेघवाल एवं जाटावास लोहावट निवासी टीकमचंद पुत्र पपुराम मेघवाल को पकड़ा गया। कई चोरी करने के बाद इन चारों की लाइफ स्टाइल में एकदम से बदलाव नजर आने लगा था। इसे देख पुलिस ने चारों की गतिविधियों पर नजर रखना शुरू कर दिया था।

यह है मामला

कयाल ने बताया कि 10 जुलाई को खींचन फलोदी निवसी लक्ष्मणसिंह पुत्र पदमसिंह की तरफ से चोरी की रिपोर्ट दी गई। उसके घर से अज्ञात चोर घर में से दो बक्सों में रखे सोने के गहने रखडी नग 5, लोंग जोड़ी नग 7, मुरकियां नग 1, पता कानों के नग 2, कंठी नग 2, हारियां गले का नग 1, पांच अगुठियां व चांदी के गहनें चुरा कर ले गए थे।

इन क्षेत्रों की खुली चोरियां

कयाल ने बताया कि अभियुक्तों ने फलोदी के आसपास के गांवों खीचन, होपारडी, सांवरीज, ननेउ, ढढु, चामू, गुमानपुरा, बिठड़ी, शेखासर व राणेरी सहित एक दर्जन से अधिक वारदात करना स्वीकार किया गया। इनके द्वारा चोरी- नकबजनी करने से पहले उस जगह की रैंकी पैदल या मोटरसाईकिल से करते और स्थान के बारें में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करते। स्कॉर्पियों वाहन में सवार होकर अपने पास चाकू, लगियें व लाठियां अपने पास रखते थे।

खबरें और भी हैं...