डॉक्टर की डिग्री-दस्तावेज नहीं:धवा में डेंगू इलाज के 800-1000 रुपए ले रहा झोलाछाप हिरासत में, क्लिनिक सीज

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
झोलाछाप डॉक्टर दिलीप सोलंकी। - Dainik Bhaskar
झोलाछाप डॉक्टर दिलीप सोलंकी।
  • शिकायत पर बीसीएमओ ने की कार्रवाई

गांव और शहर दोनों में ही डेंगू का कहर तेजी से बढ़ रहा है। वहीं विभाग की अनदेखी के चलते गांवों में झोलाछाप डॉक्टर आमजन से इलाज के नाम पर मनमर्जी का पैसा ले रहे हैं। ऐसा ही एक मामला गुरुवार को धवा गांव में सामने आया। वहां एक झोलाछाप डॉक्टर ग्रामीणों से डेंगू के इलाज के नाम पर 800 से 1000 रुपए तक वसूल रहा था।

ग्रामीणों की शिकायत पर बीसीएमओ डॉ. मोहनदान और झंवर थानाधिकारी मनोज परिहार की टीम ने संयुक्त कार्रवाई कर अवैध क्लिनिक पर निरीक्षण किया। क्लिनिक पर संचालनकर्ता दिलीप सोलंकी मिला। साथ ही दुकान में दो बेड पर ड्रिप लटकी मिली। ऐसे में साफ है कि वहां किसी मरीज को ड्रिप लगाई गई है। बीसीएमओ डाॅ. मोहनदान ने बताया कि धवा के ग्रामीणों की शिकायत मिली थी।

इस पर पुलिस के साथ मिलकर क्लिनिक व झोलाछाप डॉक्टर पर कार्रवाई की। मौके पर संचालनकर्ता डिग्री व इलाज संबंधी दस्तावेज भी दिखा नहीं पाया। डॉ. मोहनदान ने बताया कि पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार संचालनकर्ता दिलीप सोलंकी पर पहले भी गैर इरादतन हत्या के आरोप में झंवर थाना ने मामला दर्ज है।

झाेलाछाप कई माह जेल में रहकर आया है। जमानत पर बाहर आते ही उसने वही काम फिर से शुरू कर दिया है। दस्तावेज नहीं दिखाने और बिना डिग्री इलाज करने के जुर्म में क्लिनिक सीज कर संचालनकर्ता को हिरासत में लेकर पुलिस झंवर थाने लेकर आई।

खबरें और भी हैं...