जालसाज कोटा से गिरफ्तार:कभी वकील बन तो कभी पुलिस बनकर करवाता था फर्जी रजिस्ट्रियां

जोधपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी नंदकिशोर। - Dainik Bhaskar
आरोपी नंदकिशोर।

जमीनों की फर्जी रजिस्ट्रियां करवाने वाले जालसाज को जोधपुर पुलिस कोटा से गिरफ्तार कर लाई। यह जालसाज कभी वकील तो कभी पुलिस बन लोगों से मिलता और जमीनों की फर्जी रजिस्ट्रियां करवा कर लाखों रुपए एठता।

जोधपुर के खंडा फलसा थाना पुलिस ने थाने के मोस्ट वांटेड ठग को गिरफ्तार किया। थाने में इस वर्ष अप्रैल माह में कुसुम मोहनोत ने न्यायालय के मार्फत अपने साथ हुई ठगी का मामला दर्ज करवाया था। जिसमें बताया गया कि वर्ष 2015 में नंद किशोर व्यास नामक व्यक्ति जो खुद को पुलिस अधिकारी बताता था, वह उनके व्यवसाय स्थल पर आता-जाता था।

वह कई बार वह पुलिस की वर्दी में भी आया और अपना परिचय पत्र दिखाया। एक दिन उसने पाली जिले के रोहिट क्षेत्र में 20 बीघा सस्ती जमीन दिलाने की बात कही और उनको जमीन भी दिखाई। उसके बाद कहा कि कुछ समय बाद जो जमीन दोगुने दामों पर बिक जाएगी। इसके चलते परिवार में 21 लाख रुपए खर्च कर 20 बीघा जमीन खरीद ली। इसके दस्तावेज नंदकिशोर ने उन्हें उपलब्ध करवा दिए।

कुछ दिनों तक नंदकिशोर लोगों को उनके पास जमीन खरीदने के लिए भेजता रहा, जिससे पीड़ितों को यह लगा कि जमीन बिक जाएगी। लेकिन इसके बाद लोग आना बंद हो गए तो कुछ समय बाद जाकर उन्होंने रोहट में पता किया तो मालूम हुआ कि जो रजिस्ट्रेशन के कागजात उपलब्ध करवाए थे वह सब फर्जी थे। उसके बाद नंदकिशोर से संपर्क करना चाहा तो वह व्यास कॉलोनी में जहां पहले रहता था, वहां नहीं मिला उन्हें बाद में पता चला कि वह कोटा में रहता है।

इस वर्ष जनवरी में उसने फोन कर कहा कि वह उनकी राशि वापस लौटा देगा, लेकिन राशि नहीं लौटाई। जिसके बाद मामला दर्ज करवाया गया। खंडा फलसा थाना पुलिस ने नंदकिशोर के खिलाफ स्थाई वारंट जारी करवाया। कई बार उसके जोधपुर आवास पर दबिश दी, लेकिन वह नहीं मिला। हाल ही में पुलिस को पता चला कि वह कोटा के दादाबाड़ी क्षेत्र में मौजूद है तो थाना अधिकारी सुनील चारण की अगुवाई में एक टीम वहां गई और नंदकिशोर को पकड़ कर लाई।