पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • The Bride Who Was Married For Just Rs. 3.50 Lakhs Stayed For Only 4 Days, Returned To Pihar And Said, I Really Used To Make Bread At Weddings, Scared And Sent With You

ठगी:3.50 लाख देकर ब्याही दुल्हन, 5 दिन बाद बताया सच, मैं तो शादियों में रोटियां बनाने का काम करती थी

बरसिंगों का बास6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुल्हन जो शादी के चार दिन बाद भाग गई। - Dainik Bhaskar
दुल्हन जो शादी के चार दिन बाद भाग गई।
  • मतोड़ा थाना क्षेत्र के इंदों का बास गांव का मामला, नागौर का व्यक्ति रिश्ता लेकर आया और ससुर की आर्थिक स्थिति कमजोर बता रुपए लिए
  • पीहर भेजते नया मोबाइल भेंट किया, उसी से फोन कर बताया कि आपके साथ धोखा हुआ, मैं तो भीलवाड़ा से शादी में काम करने नागौर गई थी

यह मामला फिल्मी नहीं, असल का है लेकिन तरीका पूरा फिल्मी है। शादी के नाम पर एक युवक को ठग लिया। शादी हुई लेकिन दुल्हन सिर्फ 4 दिन ही रुकी। पांचवे दिन उसका घर बसाने का सपना टूट गया। जिससे सात जन्म का साथ निभाना था उसी ने फोन कर बताया कि आपके साथ शादी के नाम पर धोखा हुआ है। मैं तो शादी विवाह में रोटियां बनाने वाली हूं। युवक करीब 10 लाख रुपए के कर्ज तले दब गया है।

रिश्ता करवाने वाले ने ससुर की मदद कराने के बहाने 3.50 लाख रुपए लिए। बाकी गहने, अन्य रस्मों, टैंट व खाने के लग गए। अब उसने पुलिस से न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। जानकारी के अनुसार इंदों का बास निवासी एक युवक ने पुलिस को रिपोर्ट दी। जिसमें बताया कि करीब 20 दिन पहले मेरे घर मेरी शादी का रिश्ता लेकर गंगासिंह निवासी मागलोद , जायल नागौर व कुछ अन्य लोग आए।

गंगासिंह ने कहा कि मेरी रिश्तेदारी में एक लड़की है। आप की शादी करवा दूंगा। इसके बाद वह मामा व भाइयों के साथ लड़की को दिखाने के लिए फूलसिंह के घर गए। जहां पर फूलसिंह की पुत्री पिंकू कंवर के साथ रिश्ता तय कर शगुन के रूप से 500 रुपए लड़की के हाथ में दिए। बाद में मेरे मामा व भाइयों को उन्होंने बताया कि फूलसिंह की आर्थिक स्थिति सही नहीं है।

शादी के लिए खर्चा आपको देना होगा। उन्होंने साढ़े तीन लाख रुपयों की डिमांड की। 7 दिसंबर को वह, मामा और भाइयों के साथ दुबारा नागौर गए। जहां पर गंगासिंह को दो लाख रुपए दिए। इसके बाद गंगासिंह ने कहा कि 11 दिसंबर को बारात लेकर आ जाना।

लूट को अंजाम देने का ऐसा फॉर्मूला, कहते रहे किसी को बताना मत वरना लोग रिश्ता तुड़वा देंगे
सगाई से लेकर फेरे तक आरोपियों ने युवक व उसके परिजनों को यही कहा कि आप इस रिश्ते के बारे में किसी को बताना मत। अगर किसी को भी पता चल गया तो वे यह शादी होने नहीं देंगे। युवक व उसके परिजन अंधविश्वास करके चुप ही रहे। जब बारात लेकर शाम 6 बजे नागौर पहुंचे तो गंगासिंह ने कहा कि थोड़ी देर रुको। लड़की के परिवार में किसी की मौत हो गई है। इस कारण आप बारात मांगलोद लेकर आओ। मैं लड़की को वहीं लाता हूं। उसके कहे अनुसार बारात गंगासिंह के घर पहुंच गई। वहां गंगासिंह डेढ़ लाख रुपए और ले लिए। फिर शादी हुई। गांव वालों को भी दुल्हन लेकर आने पर ही पता चला।

लड़की कोई दिखाई, फेरे किसी से कराए

यह भी जानकारी में आया है कि पहली बार नागौर गए तो लड़की कोई दिखाई। शादी के बाद देखा तो महिला निकली। फिर भी युवक शांत रहा। आखिर कांता का फोन आया तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। अब आरोपी गंगासिंह का मोबाइल बंद आ रहा है। पीड़ित ने पुलिस से न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। उसे शक है कि कांता भी इस पूरे प्रकरण में शामिल हो सकती है।

युवक ने दुल्हन के साथ यूं लिए थे सात फेरे। 4 दिन बाद ही दुल्हन युवक को छोड़कर भाग गई।
युवक ने दुल्हन के साथ यूं लिए थे सात फेरे। 4 दिन बाद ही दुल्हन युवक को छोड़कर भाग गई।

दो-दो दिन के लिए दो बार आई
शादी में 2 तोला सोना - रकड़ी , पत्ता , मंगलसूत्र , एक अंगूठी, 40 तोला चांदी के गहने कराए। दो दिन दुल्हन यहां रही। गंगासिंह उसे लेने आ गया। उसके बाद वापस लेने गया। दो दिन रही तब गंगासिंह फिर लेने आया। उस वक्त युवक ने पत्नी को मोबाइल दिया। 19 दिसंबर को उसी नंबर से फोन आया कि मैं कांता हूं।

गंगासिंह ने आप के साथ धोखा किया है। उसने मुझे डरा धमकाकर शादी कराई। मुझे भीलवाड़ा छोड़ दिया। वह तो 7 दिन के लिए शादी विवाह में रोटी बनाने के लिए नागौर गई थी। उसे 1000 रुपये प्रतिदिन की मजूदरी दी। लेकिन वहां डराया धमकाया कि जो हम कहें, वैसा करती जाओ। डर के मारे ही शादी की।

खबरें और भी हैं...