पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिंदगी की डाेज के लिए तरस रहा जाेधपुर:मुख्यमंत्री अपने ही घर में कायदे से नहीं दे रहे वैक्सीन आवंटन में प्रदेश में छठे और लगाने में 15वें नंबर पर

जोधपुर2 महीने पहलेलेखक: प्रवीण धींगरा
  • कॉपी लिंक
CM गहलोत - Dainik Bhaskar
CM गहलोत
  • प्रदेश के दूसरे सबसे संक्रमित जिले में युवाओं को 8 दिन से नहीं लग रहा टीका

राजस्थान सरकार इन दिनों वैक्सीन के मुद्दे पर केंद्र को आड़े हाथों ले रही हैं। आरोप लगा रही हैं कि वैक्सीन को लेकर केंद्र की नीति और रीति, दोनों ही ठीक नहीं है। वैक्सीन की इस रार में अग्रणी भूमिका निभा रहे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के घर के लिए दी जा रही 18 प्लस आयु वर्ग की वैक्सीन के भी ऐसे ही हाल है।

इस वर्ग के लिए वैक्सीन राज्य सरकार खुद खरीद कर जिलों को दे रही हैं। कोरोना संक्रमण और मौत के साथ बड़े जिलों की सूची में भी राज्य का दूसरा बड़ा जिला होने के बावजूद वैक्सीन आवंटन में मुख्यमंत्री के घर को छठे नंबर पर रखा हुआ है। नतीजा, पिछले आठ दिन से वैक्सीन की साइट नहीं खुल रही। वैक्सीन कम मिलने का दूसरा नतीजा यह कि प्रदेश में जिलों की रैंकिंग में जोधपुर 15वें नंबर पर खड़ा है। जितने लोग योग्य हैं, उनकी तुलना में बहुत कम वैक्सीन मिलने से जोधपुर लगातार पिछड़ता जा रहा है।
गहलोत के केंद्र के लिए 2 बयान और उनके राज में जोधपुर के हालात...
2 अप्रैल को देश में 42 लाख टीके लगे, लेकिन अब 16 लाख ही लग रहे
गृह जिले के हाल जोधपुर जिले में प्रतिदिन 2,700 लोगों को ही लग रही वैक्सीन
अलग-अलग राज्यों पर वैक्सीनेशन सेंटर ही किए जा रहे हैं बंद
गृह जिले के हाल जोधपुर में 18+ के लिए 8 दिन से नहीं खुली एक भी साइट

हमें तो बीकानेर से भी कम मिली वैक्सीन
प्रदेश में जोधपुर से ज्यादा वैक्सीन पांच दूसरे जिलों को मिली हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, जोधपुर की ओर से जिला प्रभारी मंत्री महेंद्र चौधरी को दिए गए तीन मई तक के आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्यादा वैक्सीन की डोज जयपुर को मिली है। इसके बाद अलवर, कोटा, सीकर व बीकानेर का नंबर है। वैक्सीन आवंटन के मामले में जोधपुर तो बीकानेर से भी पीछे है।
वैक्सीन लगाने के औसत में राज्य से भी पीछे जोधपुर
जोधपुर में 18 प्लस श्रेणी में 16,87, 565 लोगों को वैक्सीन लगनी हैं। तीन मई तक 91,842 को ही वैक्सीन लग पाई थी। इस श्रेणी में अभी 15, 96,254 लोग वैक्सीन का इंतजार कर रहे हैं। जितनी वैक्सीन मिली, उसके लिहाज से आबादी की संख्या ज्यादा होने के कारण वैक्सीन लगाने का औसत कम आ रहा है। प्रदेश के 14 जिलों से जोधपुर पिछड़ा हुआ दिख रहा है।
प्रभारी मंत्री की समीक्षा के समय विभाग के हाथ में केवल 30 डोज थी: जोधपुर में जब प्रभारी मंत्री कोरोना की समीक्षा कर रहे थे, तब स्वास्थ्य विभाग के हाथ में केवल 30 डोज वैक्सीन ही थी। वैक्सीन कम आने, पाक विस्थापितों के अलावा कुछ विशेष श्रेणी के कैंप चलाने की मजबूरी के चलते आमजन के लिए 29 मई से वैक्सीन लगनी बंद कर रखी है।

खबरें और भी हैं...