पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अंतिम सफर पर शहीद:अपने लाडले लक्ष्मण को विदाई देने उमड़ पड़ा जनसमूह, 25 हजार से ज्यादा लोग पहुंचे; जगह-जगह हुई पुष्पवर्षा

जोधपुरएक महीने पहले
जोधपुर के खेजड़ला गांव में शहीद की पार्थिव देह पहुंचने के दौरान हजारों की संख्या में लोग उपस्थित थे। फोटो कपिल देवड़ा
  • जोधपुर से खेजड़ला तक की यात्रा में जगह-जगह लोगों ने की पुष्पवर्षा
  • शहीद को अंतिम विदाई देने खेजड़ला पहुंचे 25 हजार से अधिक लोग

देश के दुश्मनों से मोर्चा लेते हुए अपनी जान कुर्बान करने वाले जोधपुर जिले के खेजड़ला गांव के सिपाही लक्ष्मण को मारवाड़ के लोग नम आंखों से अंतिम विदाई दी। तिरंगे में लिपट कर पहुंचे अपने लाडले को अंतिम विदाई देने हजारों लोग खेजड़ला में उमड़ पड़े। खेजड़ला में इससे पहले इतने लोग एक साथ कभी नहीं देखे गए। देशभक्ति के जयकारों के बीच शहीद लक्ष्मण के भाई ने मुखाग्नि दी। हर तरफ हाथों में तिरंगा थामे लोग नजर आ रहे थे। जोधपुर में यह पहला अवसर है जब किसी शहीद को इतनी बड़ी संख्या में लोगों ने अंतिम विदाई दी।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर से की गई गोलीबारी में बुधवार को लक्ष्मण शहीद हो गया। जोधपुर जिले के खेजड़ला निवासी 23 वर्षीय लक्ष्मण सीमा पर दुश्मनों का बहादुरी के साथ मुकाबला करते हुए घायल हो गया था। उन्हें सेना के अस्पताल ले जाया गया, लेकिन इलाज के दौरान उन्हें बचाया नहीं जा सका।

अपने बेटे को अंतिम बार दुलारती शहीद लक्ष्मण की मां।
अपने बेटे को अंतिम बार दुलारती शहीद लक्ष्मण की मां।

इससे पूर्व जोधपुर से शहीद की पार्थिव देह को खेजड़ला ले जाने के दौरान 90 किलोमीटर लंबे सफर के दौरान हर गांव के बाहर एकत्र बड़ी संख्या में लोगों ने नम आंखों से जाबांज को विदाई दी। हर जगह जोश से लबरेज लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए शहीद की पार्थिव देह पर पुष्पवर्षा की। शहीद लक्ष्मण की पार्थिव देह खेजड़ला पहुंचने से पहले ही वहां बड़ी संख्या में लोग पहुंच चुके थे। गांव में हर तरफ लोग ही लोग नजर आ रहे थे। करीब 25 हजार लोगों की उपस्थिति में सेना का वाहन पार्थिव देह लेकर लक्ष्मण के घर पहुंचा।

घर पर पार्थिव देह का परिजनों ने अंतिम दर्शन किए। शहीद की मां और बहन के पार्थिव देह के पास पहुंचते ही माहौल गमगीन हो गया। अपने बेटे को अंतिम बार दुलारती मां को देख वहां मौजूद लोग अपने आंसू नहीं रोक पाए। घर पर कुछ रीति रिवाज के बाद शहीद अपनी अंतिम यात्रा पर निकला। उसके घर से 5 किलोमीटर की दूरी पर श्मशान स्थल पर ले जाया गया।

खेजड़ला में आज हर तरह लोग नजर आए।
खेजड़ला में आज हर तरह लोग नजर आए।

शहीद के सम्मान में गांव का बाजार पूरी तरह से बंद रहे। उसके परिवार में माता-पिता व एक छोटा भाई व बहन है। उनके पिता खेती से जुड़े हैं। लक्ष्मण की दो माह बाद शादी होनी थी। परिवार में शादी की तैयारियां चल रही थी। अगले माह के अंत तक लक्ष्मण छुट्‌टी पर आने वाले थे। वे पांच वर्ष पूर्व सेना में भर्ती हुए थे।

गोली लगने के थोड़ी देर पहले घर पर की थी बात
लक्ष्मण का परिवार अपने लाडले बेटे की शादी की तैयारी में जुटा था। दो माह पूर्व छुट्‌टी आए लक्ष्मण ने अपने मकान का निर्माण कार्य शुरू कराया था। मकान निर्माण चल रहा है। ऐसे में कल सुबह उसने घर पर फोन कर अपनी मां से काफी देर बात कर मकान के बारे में जानकारी ली। इसके बाद उसने वहां काम कर रहे अपने दोस्त से मकान निर्माण में तेजी लाने को कहा। लक्ष्मण अपनी शादी से पहले मकान निर्माण पूरा कराना चाहता था। लक्ष्मण के रिश्ते में भाई ने बताया कि परिवार के लिए बहुत बड़ी क्षति है। लक्ष्मण की प्रेरणा से उसका छोटा भाई भी फौज में शामिल होने की तैयारी में जुटा हुआ है।

कोरोना के कारण अटक गई थी शादी
शहीद लक्ष्मण की शादी गत साल प्रस्तावित थी। लेकिन कोरोना के कारण लागू सख्त गाइडलाइन को ध्यान में रख दोनों परिवार ने शादी को आगे खिसका दिया था। उसकी सगाई क्षेत्र के घणामगरा गांव के एक परिवार की बीए कर रही युवती से दो वर्ष पहले हो रखी थी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

और पढ़ें