पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • The Decision Of The International Tribunal Will Change The Fate Of The Thar Oil Fields, Cairn Energy Will Return To Repeat The Success Story

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उम्मीद:अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के फैसले से बदलेगी थार तेल क्षेत्रों की किस्मत, सफलता की कहानी दोहराने वापस लौटेगी केयर्न एनर्जी

जोधपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाड़मेर के मंगला तेल क्षेत्र में तेल कुआ। - Dainik Bhaskar
बाड़मेर के मंगला तेल क्षेत्र में तेल कुआ।
  • वोडाफोन के पक्ष में फैसला आने से ब्रिटिश कंपनी केयर्न एनर्जी की बांछे खिली
  • कंपनी को उम्मीद उसके पक्ष में आएगा फैसला, राजस्थान में काम करने की इच्छुक

अंतररष्ट्रीय मध्यस्थता न्यायाधिकरण के भारत में वोडाफोन के पक्ष में फैसला सुनाए जाने के बाद से ब्रिटिश तेल कंपनी केयर्न एनर्जी की बांछे खिल उठी है। कंपनी अब एक बार फिर भारत में निवेश की योजना पर काम कर रही है। राजस्थान में देश का सबसे बड़ा तेल भंडार खोजने वाली यह कंपनी इस फैसले से उत्साहित है। इसे उम्मीद है कि अब वह भारत में तेल खोज के लिए लगने वाली अगली नीलामी में हिस्सा लेगी। कंपनी राजस्थान में ही तेल व गैस की खोज में काम करने की इच्छुक है। ताकि एक बार फिर पुरानी सफलता को दोहरा सके।
केयर्न की खोज ने बदल दी थी तस्वीर
केयर्न एनर्जी ने वर्ष 2004 में राजस्थान के बाड़मेर में थार के रेगिस्तान में तेल व गैस के विशाल भंडार की खोज की थी। केयर्न ने जनवरी 2004 में राजस्थान में मंगला तेल क्षेत्र की खोज के साथ भारत के तेल और गैस उद्योग को हमेशा के लिए बदल दिया। यह भारत में अब तक की सबसे बड़ी हाइड्रोकार्बन खोजों में से एक थी। इसके बाद भाग्यम और ऐश्वर्या तेल खोजों के साथ तेजी से इसका अनुसरण किया गया। आज मंगला, भाग्यम और ऐश्वर्या क्षेत्र में कुल मिलाकर लगभग 2.2 बिलियन बैरल का तेल भंडार मौजूद है। ये केयर्न ही थी, जिसने भारत में तेल क्षेत्र के लिए विदेशी निवेश खुलने के बाद सबसे ज़्यादा सफलता अर्जित की थी।
केयर्न की संपत्ति सीज
देश को सबसे बड़ा तेल खोज क्षेत्र देने वाली केयर्न एनर्जी को आयकर विभाग से जनवरी 2014 में नोटिस मिला था। उसमें 2006 में समूह के पुनर्गठन के मामले में प्रारंभिक अनुमान के तहत 10,247 करोड़ रुपये कर की मांग की गई थी। विभाग ने इस मांग के साथ कंपनी की पूर्व सहयोगी केयर्न इंडिया में उसकी करीब 10 फीसदी हिस्सेदारी को सीज कर लिया था। केयर्न एनर्जी ने 2010-11 में केयर्न इंडिया वेदांता को बेच दी। केयर्न इंडिया और वेदांता के अप्रैल 2017 में विलय के बाद ब्रिटेन की कंपनी की केयर्न इंडिया में हिस्सेदारी को वेदांता में करीब 5 फीसदी हिस्सेदारी से बदला गया था। आयकर विभाग ने वेदांता में कंपनी के शेयर सीज करने के अलावा 1,140 करोड़ रुपए का लाभांश भी जब्त किया था।
केयर्न के विवाद का यह पड़ा प्रभाव
केयर्न एनर्जी के साथ भारत सरकार के टैक्स विवाद से देश में तेल खोज का कार्य काफी हद तक प्रभावित हुआ। केन्द्र सरकार की ओर से नए क्षेत्रों की नीलामी प्रक्रिया से विदेशी कंपनियों ने हाथ खींच लिए। इस कारण नए तेल क्षेत्रों की खोज नहीं हो पाई। अब इस विवाद के निपटने के बाद फिर से उम्मीद जगी है कि तेल खोज कार्य गति पकड़ेगा।
केयर्न भी लौटने को उत्सुक
केयर्न एनर्जी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि कंपनी ने अपनी सबसे बड़ी सफलता राजस्थान में ही अर्जित की थी। ऐसे में कंपनी की इच्छा है कि वह एक बार फिर राजस्थान में भाग्य आजमाए। ताकि पुरानी सफलता को नए सिरे से दोहरा सके। कंपनी के पास राजस्थान में काम करने का बेहतरीन अनुभव है। इसके दम पर कंपनी को विश्वास है कि वह एक बार फिर सफलता हासिल कर सकती है। वह वेदांता में अपनी पांच फीसदी हिस्सेदारी को बेचकर प्राप्त होने वाली राशि को भारत में ही निवेश कर सकती है।
केयर्न को उम्मीद
कंपनी ने अपनी छमाही वित्तीय परिणाम से जुड़े बयान में कहा कि उसे उम्मीद है कि अंतररष्ट्रीय मध्यस्थता न्यायाधिकरण जल्दी ही उसके मामले में फैसला सुनाएगा। कंपनी ने न्यायाधिकरण के समक्ष भारत सरकार की पूर्व की तिथि से 10,247 करोड़ रुपये की मांग को चुनौती दी है। सभी औपचारिक सुनवाई और जरूरी सूचना दी जा चुकी है। न्यायाधिकरण अब फैसला लिखने की प्रक्रिया में है। कुछ दिन पूर्व ही एक अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थता न्यायाधिकरण ने यह व्यवस्था दी कि भारत का वोडाफोन ग्रुप से पूर्व की तिथि से 22,100 करोड़ रुपये का कर मांगना नियम विरुद्ध है। ऐसे में केयर्न एनर्जी भी इस फैसले से उत्साहित है और उम्मीद लगा कर बैठी है कि फैसला उसके हक में आएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें