पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • The Gopi, Who Could Not Tell Anything About Himself, Jumped With Joy After Seeing The Photo Of The Golden Temple, Now It Will Be Sent To Punjab

मूक बधिर बालक की अनोखी दास्तान:अपने बारे में कुछ नहीं बता पाने वाला गोपी स्वर्ण मंदिर की फोटो देख खुशी से उछल पड़ा, अब भेजा जाएगा पंजाब

जोधपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल के सामने खड़ा मूक बधिर बालक गोपी। - Dainik Bhaskar
बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल के सामने खड़ा मूक बधिर बालक गोपी।

बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल की अनूठी पहल से एक मूक बधिर बालक के अपने परिजनों से मिलने की उम्मीदे परवान चढ़ गई है। जोधपुर के एक किशोर गृह में रहने वाला मूक बधिर बालक अपने बारे में किसी को कुछ समझा नहीं पा रहा था। संगीता ने आज बालक से मुलाकात के दौरान उसे स्वर्ण मंदिर की फोटो दिखाई। इस फोटो को देख बालक खुशी से उछल पड़ा। इसी से अंदाजा लगाया गया कि यह पंजाब का रहने वाला है। अब बालक को पंजाब भेजने की व्यवस्था की जा रही है ताकि वहां उसके परिजनों को तलाश किया जा सके।

संगीता बेनीवाल ने बताया कि कुछ समय से जोधपुर के किशोर सुधार गृह में एक बालक को लाया गया था। यह बालक मूक-बधिर होने के कारण अपने बारे में किसी को कुछ बता पाने में असमर्थ था। इस बालक को यहां पर गोपी नाम दिया गया। गोपी बहुत ही होशियार और अनुशासन में रहने वाला बालक है। अल्प समय में ही इसने यहां पर सभी का दिल जीत लिया। गोपी हमेशा यहां पर कुछ न कुछ काम करता रहता है।

संगीता बेनीवाल ने कहा कि सुधार गृह का निरीक्षण करने के दौरान मुझे इसके बारे में पता चला। इस पर मैने उसे बुलाकर उसके बारे में जानने का प्रयास किया। वह न तो बोल पाता है न ही कुछ सुन पाता है। ऐसे में मैने उसे अलग-अलग राज्यों के फोटो दिखाने शुरू किए। स्वर्ण मंदिर की फोटो देख वो खिल उठा। उसने पंजाबी ड्रेस देख अपने आप को वहां रहने का इशारों से बताया। इसके बाद मैने इस बालक गोपी को पंजाब भेजने का फैसला किया।

अब इस बालक को बाल कल्याण समिति के एक सदस्य और सादा कपड़ों में पुलिस के साथ पंजाब भेजा जाएगा। ताकि वहां इसके माता-पिता की तलाश आसानी से की जा सके। यह बालक जोधपुर तक कैसे पहुंचा इसके बारे में अभी तक कोई जानकारी सामने नहीं आई है। पुलिस को यह शहर में भटकते हुए मिला था। इसके बाद इसे किशोर सुधार गृह में भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...