पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सुनवाई:बीमा कंपनी ने किसानों को बकाया मुआवजा चुकाया याचिकाकर्ता ने कहा- वर्ष 2017 का अभी भी बाकी

जोधपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लूणी पंस के सतलाना गांव का मामला, अब 19 अक्टूबर को होगी सुनवाई

एग्रीकल्चर इंश्योरेंंस कंपनी ने हाईकोर्ट के आदेश की पालना में फसल खराब होने पर किसानों को बकाया मुआवजा चुका दिया है, लेकिन याचिकाकर्ता का कहना है कि यह बकाया केवल वर्ष 2016 का चुकाया गया है। वर्ष 2017 से संबंधित मुआवजा बचा हुआ है, इसलिए इसमें और सुनवाई की जरूरत है। कोर्ट ने इस मामले में अब अगली सुनवाई 19 अक्टूबर को मुकर्रर की है।

याचिकाकर्ता भल्लाराम पटेल की ओर से एक जनहित याचिका दायर कर लूणी पंचायत समिति के सतलाना गांव में 1100 से अधिक किसानों को फसल खराब होने पर मुआवजा नहीं मिलने का मुद्दा उठाया गया था। याचिका में बताया गया कि वित्तीय वर्ष 16-17 व वर्ष 17-18 में खरीफ की फसल बाजरा, मूंग व तिल के फसल बीमा के पेटे जोधपुर सेंट्रल कॉपरेटिव बैंक के जरिए प्रीमियम चुकाया गया था, लेकिन मुआवजा नहीं मिला।

इंश्योरेंस कंपनी का कहना था कि उन्होंने अपना पैसा बैंक को रिलीज कर दिया है, जबकि बैंक का कहना है कि उन्होंने किसानों को मुआवजा की राशि चुका दी है। इस पर गत 27 जुलाई को कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा था कि कंपनी, सरकार व कॉपरेटिव बैंक के बीच लंबित मुद्दे की वजह से किसानों के क्लेम देने में देरी नहीं की जा सकती है। इसलिए एक महीने में कंपनी क्लेम चुकाकर पालना रिपोर्ट पेश करें।

इसी आदेश की पालना में गत 20 अगस्त को क्लेम चुका दिया गया, लेकिन याचिकाकर्ता के अधिवक्ता मोतीसिंह का कहना है कि यह क्लेम केवल वर्ष 2016 का चुकाया गया जबकि वर्ष 2017 से संबंधित क्लेम बकाया है। इसलिए इस मामले को और सुनने की जरूरत है। जस्टिस संगीत लोढ़ा व रामेश्वर व्यास की खंडपीठ ने इस मामले में अब अगली सुनवाई 19 अक्टूबर को मुकर्रर की है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन परिवार व बच्चों के साथ समय व्यतीत करने का है। साथ ही शॉपिंग और मनोरंजन संबंधी कार्यों में भी समय व्यतीत होगा। आपके व्यक्तित्व संबंधी कुछ सकारात्मक बातें लोगों के सामने आएंगी। जिसके ...

और पढ़ें