पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • The Internal Discord Of The Congress Opened Wide, The List Of Candidates Could Not Be Continued In The Race To Get Tickets To The Favorites

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नगर निगम चुनाव:कांग्रेस की अंदरुनी कलह खुलकर आई चौड़े, चहेतों को टिकट दिलाने की होड़ में प्रत्याशियों की सूची तक नहीं हो पाई जारी

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • असमंजस के हालात में कई दावेदार कर रहे है नामांकन दाखिल करने की तैयारी

नगर निगम चुनाव के लिए पार्टी प्रत्याशी तय करने को मची खींचतान में कांग्रेस की अंदरुनी कलह खुलकर चौड़े आ गई है। हालात ऐसे बन गए कि बगावत से डरी पार्टी अपने प्रत्याशियों की सूची तक जारी नहीं कर पाई। अपने चहेतों को टिकट दिलाने की जद्दोजहद में जुटे कांग्रेसी नेताओं के सामने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेट वैभव तक की नहीं चल पाई। वे भी मैदान छोड़ जयपुर निकल लिए। बाद में गहलोत ने स्वयं मोर्चा संभाल कुछ डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश अवश्य की।
ऐसा पहली बार देखने को मिल रहा है कि कांग्रेस ने निगम प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं की। इसके बजाय प्रत्याशियों को फोन कर सूचित कर दिया गया कि उन्हें प्रत्याशी बनाया गया है और वे सोमवार को अपना नामांकन दाखिल कर दे। सूची जारी नहीं होने से अन्य दावेदारों में असमंजस के हालात पैदा हो गए। इन हालात में कई दावेदार अब नामांकन दाखिल करने की तैयारी में जुटे है।
चहेतों के फेर में पार्टी दरकिनार
कांग्रेस ने मुख्यमंत्री गहलोत के विधानसभा क्षेत्र सरदारपुरा का दायित्व जेडीए के पूर्व चेयरमैन राजेन्द्र सोलंकी को, शहर विधानसभा क्षेत्र का विधायक मनीषा पंवार को और सूरसागर की जिम्मेदारी वहां से चुनाव हारे प्रो. अयूब खान व शहर कांग्रेस के निवर्तमान अध्यक्ष सईद अंसारी को सौंपी थी। इन सभी ने अपने चहेतों को टिकट दिलाने पर ही फोकस किया। शहर विधायक मनीषा ने तो इतना तक कह दिया कि पार्टी की सरकार बचाए रखने के लिए एक माह तक होटल में उन्हें रहना पड़ा था। ऐसे में अब अपने क्षेत्र के टिकट वे ही तय करेगी। उन्होंने जमीन से जुड़े कुछ लोगों के नाम सूची से काट दिए। उनके स्थान पर नए चेहरों को सामने ले आई। इनमें जातीय समीकरण भी ध्यान में नहीं रखा गया। इसी तरह अंसारी भी सूरसागर के कुछ टिकट के अलावा अपनी बेटी के टिकट को लेकर अड़ गए। पार्टी में उनकी बेटी के टिकट का खुलकर विरोध भी हुआ। लेकिन अंसारी अड़े रहे। वहीं कमोबेश ऐसे ही हालात सरदारपुरा में भी बने।
थकहार वैभव हुए रवाना
वैभव ने दो दिन तक जोधपुर में प्रत्याशी चयन में सभी के बैठ काफी मशक्कत की, लेकिन सूची को अंतिम रूप देते समय कुछ स्थानीय नेता उनके सामने अड़ गए। ये सभी अपने चहेतों को टिकट देने की बात पर अड़े रहे, जबकि वैभव पार्टी के जमीन से जुड़े लोगों को प्राथमिकता देने के पक्ष में थे। दोपहर तक कोई नतीजा नहीं निकलते देख थकहार वैभव ने मैदान छोड़ दिया और यह कहते हुए जयपुर रवाना हो गए कि आप लोग सूची जारी कर देना।
गहलोत ने किया डैमेज कंट्रोल का प्रयास
जयपुर में वैभव ने अपने पिता मुख्यमंत्री गहलोत को जोधपुर के हालात से अवगत कराया तो उन्होंने सूची को अपने पास मंगाई। तब तक कई लोग गहलोत को फीड बैक भी दे चुके थे कि टिकट वितरण में गड़बड़ हो रही है। इसके बाद उन्होंने देर रात कुछेक नामों में बदलाव किया। लेकिन यह नाकाफी रहा।
असमंजस में कांग्रेसी
कांग्रेस प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं होने कारण पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ ही सभी दावेदार असमंजस में है। लोगों को पता भी नहीं चल पा रहा है कि उनके वार्ड से आखिरकार किसे प्रत्याशी बनाया गया है। ऐसे में कई दावेदार अपना नामांकन दाखिल करने की तैयारी में जुट गए है। पार्टी के लिए असमंजस के बीच नामांकन दाखिल करने वाले बागी लोगों की चुनौती से निपटना काफी मुश्किल नजर आ रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें