पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अलर्ट:लॉकडाउन खत्म हुआ है कोरोना नहीं, इसे रोकने आगे आकर जांच कराएं, क्योंकि टेस्टिंग का औसत आधा भी नहीं रह गया

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चुनाव की गर्मी, मौसम की गुलाबी ठंड व शादियों-त्याेहारों की बरसात में वायरस से बचना ही होगा

शहर में चल रही निगम चुनाव की गर्मी और मौसम में गुलाबी ठंड हमारा त्योहारों का उत्साह फीका ना कर दे, कारण कि चुनावी भीड़-भाड़, गुलाबी ठंड में मौसमी बीमारियों स्वाइन फ्लू, डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया आदि बढ़ने की संभावना है। साथ ही कोरोना भी बढ़ सकता है। इन सब को रोकने के लिए हमें ही जागरूक होना होगा।

ऐसे में जरूरी है कि चुनावी प्रचार में सभी मास्क लगाएं, हल्की खांसी-जुकाम, बुखार, कोरोना के हल्के लक्षण होने पर नजदीकी पीएचसी-सीएचसी पर जाकर जांच कराएं। अक्टूबर माह में मेडिकल कॉलेज के तीनों बड़े अस्पताल समेत 27 पीएचसी में की जा रही कोरोना जांच का औसत जुलाई-अगस्त में हुई सैंपलिंग का आधा ही रह गया है।

अक्टूबर की तुलना यदि जुलाई-अगस्त से करें तो सिंतबर-अक्टूबर में औसत सैंपलिंग 1000-1200 के बीच ही हो रही है। जबकि पूर्व में तीन हजार से 3500 का सैंपलिंग का औसत था। इसके चलते पॉजिटिव मरीजों की संख्या कम जरूर हुई है, लेकिन कोरोना खत्म नहीं हुआ है। विशेषज्ञाें की मानें ताे शहर के आम और खास दोनों ही कोरोना लक्षण होने के बाद 17 दिन घर और अस्पताल में क्वारेंटाइन होने के डर से सैंपलिंग कराने आगे नहीं आ रहे हैं। कुछ के फैमिली डॉक्टर ही जांच कराने के लिए मना कर रहे हैं, जिसका परिणाम है कि हर प्रकार की कोशिश के बाद भी कोराेना से मौत का आंकड़ा नगण्य करने में जिला प्रशासन नाकाम साबित हो रहा है।

जिला कलेक्टर इंद्रजीत सिंह ने अपील की है कि कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है, इसलिए शहरवासी आगे आकर जांच कराएं ये आपका अधिकार है। विशेषज्ञों की मानें तो दूसरे देशों की तरह राजस्थान में भी कोरोना की दूसरी वेब आने की संभावना से नकारा नहीं जा सकता है।
जुलाई के एक ही माह में एक लाख से अधिक हुई सैंपलिंग, जो अब आधी भी नहीं रही
मार्च से शुरू हुए कोराेना काल में अब तक मार्च के बाद जहां सैंपलिंग जुलाई माह तक लगातार बढ़ रही थी, वह अगस्त के बाद से लगातार कम होती जा रही है। अकेले जुलाई माह में एक लाख आठ हजार से अधिक सैंपलिंग का आंकड़ा पहुंच गया वहीं अगस्त में सैंपलिंग का आंकड़ा 66095 रह गया जो सितंबर और अक्टूबर में और कम हो गया।

गुलाबी ठंड आगामी माह में गुलाबी ठंड मौसमी बीमारियों के साथ कोरोना को भी बढ़ाने में सहायक होगी। ऐसे में प्रशासन को चाहिए कि वे मौसमी बीमारियों की जांच भी लगातार कराने के निर्देश मेडिकल कॉलेज प्राचार्य को दे।
चुनाव की गर्मी
शहर में निगम चुनाव में 160 वार्डों में पार्षद प्रत्याशी पूरा जाेर लगा रहे हैं। प्रचार के दौरान भीड़-भाड़ व कार्यकर्ताओं के जमावड़े के चलते आगामी माह में कहीं सुपर स्प्रेडर ना बन जाएं। इसके लिए प्रशासन को चाहिए कि चुनाव प्रचार में लगे लाेगों काे काेरोना गाइडलाइन में रहकर प्रचार करने के लिए पाबंद करें।

त्योहार
आगामी माह में दीपावली के चलते घराें में साफ-सफाई, घरों को सजाने, मिठाइयां बनाने आदि में शहरवासी व्यस्त रहेंगे। हर आम और खास को ध्यान रखना है कि घरों में जिन लोगों काे अस्थमा और एलर्जी है, उन्हें धूल, साफ-सफाई आदि कार्यों से दूर रखें और उनका खास ध्यान रखें।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपका कोई भी काम प्लानिंग से करना तथा सकारात्मक सोच आपको नई दिशा प्रदान करेंगे। आध्यात्मिक कार्यों के प्रति भी आपका रुझान रहेगा। युवा वर्ग अपने भविष्य को लेकर गंभीर रहेंगे। दूसरों की अपेक्षा अ...

और पढ़ें