पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनूठी सेवा:बर्ड फ्लू का नहीं है कोई खौफ, यहां रोजाना सैकड़ों की संख्या में कौओं को मिलता है भरपेट भोजन

जोधपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जोधपुर के शोभावतों की ढाणी क्षेत्र में एकत्र कौवे। - Dainik Bhaskar
जोधपुर के शोभावतों की ढाणी क्षेत्र में एकत्र कौवे।
  • जोधपुर के शोभावतों की ढाणी क्षेत्र में रोजाना बड़ी संख्या में कौओं को लोग कराते है भोजन

राजस्थान में बर्ड फ्लू से कौओं की लगातार हो रही मौतों से लोगों में इस पक्षी को लेकर दहशत का माहौल है। लोग कौओं के पास जाने तक से घबरा रहे हैं। इसके विपरीत जोधपुर शहर के शोभावतों की ढाणी क्षेत्र में रहने वाले प्रवीण कुमार अपने घर के बाहर रोजाना सैकड़ों कौओं को दाना देते हैं। उनकी यह अनूठी सेवा बरसों से चल रही है। अब उनके घर के बाहर कौओं की संख्या काफी बढ़ गई। ऐसे में मुहल्ले के कुछ अन्य सेवाभावी लोग भी इन्हें भोजन कराने को आगे आए हैं।

कौओं के लिए भोजन के साथ प्रवीण कुमार।
कौओं के लिए भोजन के साथ प्रवीण कुमार।

जोधपुर शहर व आसपास के गांवों में कुछ दिन से लगातार कौओं की अकाल मौत हो रही है। हालांकि, जोधपुर शहर में मृत कौऔं की जांच में उनमें बर्ड फ्लू की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है। लेकिन, कौओं को लेकर लोगों में घबराहट का माहौल है। लोग इन्हें देखते ही उड़ाने में जुट जाते हैं। वहीं शोभावतों की ढाणी क्षेत्र के मरुधर केसरी नगर में रोज सुबह सात बजते ही बड़ी संख्या में कौओं की आवाज गुंजायमान होना शुरू हो जाती है। ये सभी एक मकान के इर्द गिर्द बैठ जाते हैं। ताकि उन्हें भोजन मिल सके। प्रवीण कुमार एक दशक से अधिक समय से रोजाना सुबह कौओं को भोजन कराते है। इनके लिए वे डेढ़ से दो किलोग्राम आटे की रोटी व बेसन के गांढियों की व्यवस्था तैयार रखते है। कौओं के मकान के बाहर आते ही वे बाहर निकलते है और सभी को प्रेेम से भोजन कराते है।

प्रवीण कुमार के घर के बाहर मंडराते कौवे।
प्रवीण कुमार के घर के बाहर मंडराते कौवे।

प्रवीण कुमार ने बताया कि इन दिनों कौओं की संख्या काफी बढ़ गई है। रोजाना 400 से 500 कौवे आ रहे है। ऐसे में उनके लिए सभी को भोजन कराने में दिक्कत आने लगी। इस पर मौहल्ले के कुछ लोग आगे आए। अब वे भी इन कौओं को भोजन कराते है। खासियत की बात यह है कि चंद मिनट में ही अपना पेट भर सभी कौवे वहां से उड़ान भर चले जाते है। इसके बाद वे अगले दिन सुबह ही वापस नजर आते है। प्रवीण का कहना है कि सर्दी के मौसम में हर साल इनकी संख्या बढ़ जाती है, लेकिन इस बार गत वर्ष की अपेक्षा काफी अधिक संख्या में कौवे रोज आ रहे है। उनका कहना है कि हमारे क्षेत्र में हमने एक भी कौवे को मृत नहीं देखा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

और पढ़ें