पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • To Reduce Deaths From Corona, Brainstorming, Teams Will Be Targeted To Increase Sampling, Patients With Symptoms Will First Test

नई रणनीति:कोरोना से मौतें कम करने पर मंथन, सैंपलिंग बढ़ाने के लिए टीमों को टारगेट मिलेगा, लक्षण वाले मरीजों का पहले करेंगे टेस्ट

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोराेना के कहर से शहर में 17 दिन में 109 से ज्यादा मौतें होने के बाद अब प्रशासन नई रणनीति पर विचार कर रहा है। इसके लिए जोधपुर के विशेषज्ञ डॉक्टरों के अलावा जयपुर से भेजे गए डॉ. रमन शर्मा के साथ प्रशासन ने समीक्षा के बाद नई तैयारी की है। 17 दिन में हुई मौतों की स्टडी के बाद अब मृत्युदर कम करने के लिए क्रिटिकल हालत में हॉस्पिटल पहुंच रहे मरीजों का रिस्पॉन्स टाइम घटाने की तैयारी की जा रही है।

कोरोना को कंट्रोल करने के लिए वीक एंड में लॉकडाउन या रात्रि कर्फ्यू का समय बढ़ाने, कंटेनमेंट जोन बढ़ाने की बजाय जागरूकता व सावधानी के साथ नियमों व प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना करवाई जाएगी। कलेक्टर इंद्रजीतसिंह का कहना है कि प्रशासन ने टेस्टिंग कम नहीं की है, लोग सैंपल देने से कतरा रहे हैं। अब उन्हें इस बारे में जागरूक कर टेस्ट ज्यादा किए जाएंगे। इससे पहले ही संक्रमण का पता चलेगा और रिस्पॉन्स टाइम भी घट जाएगा।

प्रशासन की छह स्तरीय रणनीति

सावधानी व अवेयरनेस| ‘नो मास्क नो एंट्री’ को लागू करने के लिए आईसी और रेगुलेशन की ज्यादा पालना करवाई जाएगी। जैसे पुलिस ने निगम में छापे लगाकर मास्क नहीं पहनने वालों के चालान बनाए। इसी तरह दूसरी एजेंसी भी पुलिस या रेगुलेशन करने वालों के चालान बनाएगी। पंचायत चुनाव में हरसंभव पालना होगी।

टेस्टिंग बढ़ाने की तैयारी

जोधपुर में 5500 टेस्ट रोजाना करवाने की क्षमता है। अभी 2500-3000 तक हो रहे हैं। टेस्ट बढ़ाने के लिए टारगेट बेस्ड काम होगा। कोरोना लक्षण वाले और आईएलआई श्रेणी के मरीजों का पहले टेस्ट होगा। टेस्ट करवाने के लिए लोगों को जागरूक भी करेंगे।
मरीजों की संतुष्टि

भर्ती मरीजों की संतुष्टि पर फोकस है। लाइन ऑफ ट्रीटमेंट को आक्रामक कर रहे हैं। बाहर से विशेषज्ञ बुला रहे हैं। मरीज संतुष्ट होंगे, तभी वे बेहतर इलाज के बारे में बता सकेंगे।

रिस्पाॅन्स टाइम घटेगा

पॉजिटिव की स्थिति बिगड़ने के बाद अस्पताल लाया जा रहा है। गंभीर बीमारियों का पता लगाने के लिए कोरोना के अलावा दूसरे टेस्ट के लिए प्रेरित करेंगे। एमजीएच में वॉकिंग ओपीडी शुरू की है।
मौतों पर रिसर्च

अब तक कोरोना से हुई मौतों की स्टडी व रिसर्च की जा रही है। इसके लिए एम्स की टीम जुटी हुई है। इस आधार पर भी बेहतर उपचार करने में मदद मिलेगी।

संसाधन बढ़ाने का प्रयास

मरीजों का दबाव बढ़ाने से संसाधन कम ना पड़े, इसलिए निरंतर बेड व मैन पावर बढ़ाया जा रहा है। रेलवे व एमजीएच में सुविधा शुरू करने के अलावा शहर के बाहर से एमओ व नर्सिंग स्टाफ को बुलाने की तैयारी की जा रही है। वर्तमान में क्षमता का पूरा उपयोग हो रहा है या नहीं, इसकी मॉनिटरिंग कर रहे।

जोधपुर में भी एसएमएस जैसा मिल रहा इलाज : डॉ. शर्मा

जोधपुर में मरीजों को मिल रहे इलाज और एसएमएस के इलाज में कोई फर्क नहीं है। सीनियर डॉक्टर राउंड भी ले रहे हैं। ग्रुप डिस्कशन के साथ एक-एक मरीज की स्थिति के अनुसार ट्रीटमेंट दे रहे हैं। एमजीएच और एमडीएमएच में भर्ती कोरोना मरीजों के लिए एडवांस ट्रीटमेंट भी शुरू किया है। एक ही दिन में 35 मरीजों की सीटी स्कैन कर चुके हैं।

यह बात शुक्रवार काे जोधपुर आए जयपुर एसएमएस के सीनियर प्राे. डाॅ. रमन शर्मा ने कही। वे मरीजों के इलाज को लेकर लगातार मिल रही शिकायतों के चलते मुख्यमंत्री के आदेश पर अाए थे। उन्होंने बताया कि सीटी स्कैन से कोरोना मरीज की स्थिति स्पष्ट हो जाती है। आरटीपीसीआर जिस मरीज को निगेटिव बताता है, सीटी स्कैन से उस मरीज में कोरोना होने का पता चल जाता है।

इसके अलावा डी-डायमर, इंटरल्यूकिन जैसे दूसरे एडवांस टेस्ट भी करवाए जा रहे हैं। इसलिए जोधपुर की मृत्युदर कम है। इसका एक कारण यह भी है कि रेमडेसिवीर, डेक्सामेथासोन जैसी जीवनरक्षक दवाओं का मरीज पर उपयोग किया जा रहा है। डॉ. शर्मा के बताया कि सैंपल रिजल्ट की सेंसिटिविटी 100% नहीं होकर केवल 60-70% ही होती है।

स्वाइन फ्लू के वायरस का इंट्यूशन पीरियड एक से डेढ़ दिन होता है, जबकि कोरोना का 14 दिन। इसलिए 11 दिन में कई बार टेस्ट कराकर देखा जाता है। कोरोना का मीडियम इंट्यूशन पीरियड साढ़े पांच दिन का होता है। कई बार टेस्ट निगेटिव आता है, लेकिन मरीज का ऑक्सीजन लेवल लगातार नीचे गिरता रहता है।

ऐसे में मरीज का एचआर सीटी चेस्ट जांच कराकर देखा जाता है। इससे निगेटिव है या पॉजिटिव मरीज की स्थिति साफ हो जाती है। उन्होंने बताया दो तरह से सैंपल लिया जाता है। नाक और ओरल मैथड से। इससे रिपोर्ट में कोई संदेह नहीं रहता।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- चल रहा कोई पुराना विवाद आज आपसी सूझबूझ से हल हो जाएगा। जिससे रिश्ते दोबारा मधुर हो जाएंगे। अपनी पिछली गलतियों से सीख लेकर वर्तमान को सुधारने हेतु मनन करें और अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करें।...

और पढ़ें