पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विश्व तंबाकू निषेध दिवस आज:हर साल तंबाकू से 70 लाख माैतें, 40% कैंसर का कारण भी यही, आज ही छोड़ें धूम्रपान, औरों को भी प्रेरित करें

जोधपुर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आदत छोड़ना कठिन पर नामुमकिन नहीं

आज, 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाया जाएगा। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार एक साल में करीब 70 लाख लोगों की मौत तंबाकू से हो रही हैं। ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे 2009-10 के अनुसार भारत में एक तिहाई करीब 34 प्रतिशत व्यस्क तंबाकू का सेवन कर रहे हैं।

एम्स के मनोचिकित्सक डॉ. नरेश नेभनानी और डॉ. नवरतन सुथार बताते हैं कि हर तरह का नशा मानव शरीर के लिए नुकसानदायक है। बीड़ी, सिगरेट, गुटखा, जर्दा, खैनी, हुक्का व चिल्लम आदि के रूप में लोग इनका सेवन करते हैं। उन्हें नहीं मालूम कि तंबाकू में मादकता या उत्तेजना देने वाले मुख्य कारक निकोटीन के अलावा कैंसर उत्पन्न करने वाले तत्व भी पाए जाते हैं। उन्होंने बताया कि युवाओं में फिल्मों में अपने रोल मॉडलों को देखकर सिगरेट पीने की आदत लगती हैं। सिगरेट में 7,000 से ज्यादा केमिकल्स होते हैं। जिनमेंं से तकरीबन 70 केमिकल्स कैंसर का कारण बनते हैं। 40 प्रतिशत कैंसर तंबाकू के कारण हाेते हैं। जिसमें मुंह, गला, श्वास नली, फेफड़ों, खाने की नली, पेट, पेशाब की थैली का कैंसर प्रमुख है। इसके अलावा दिल की बीमारियां, हाइपरटेंशन पेट के अल्सर, एसिडिटी व अनिद्रा आदि बीमारियां भी होती हैं।

डॉ. नेभनानी और डॉ. नवरत्न ने बताया कि यह आदत छोड़ना मुश्किल है नामुमकिन नहीं है। यदि नशा छोड़ना है तो मनोचिकित्सा से परामर्श से इसका इलाज लें। निकोटिन रिप्लेसमेंट थैरेपी और दवाइयों की मदद से इस आदत को बदला जा सकता है। उन्होंने बताया एम्स जोधपुर में सोमवार से शुक्रवार और मंगलवार को नशा मुक्ति ओपीडी संचालित होती है। यहां आकर भी परामर्श ले सकते हैं।

खबरें और भी हैं...