हाईकोर्ट के राज्य सरकार को निर्देश:प्रदेश के अस्पतालों में इस्तेमाल नहीं होने वाले वेंटिलेटर 1 हफ्ते में चालू करें; चिकित्सा सचिव को हलफनामा पेश करने का आदेश

जोधपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

राजस्थान हाईकोर्ट ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई कर राज्य सरकार को निर्देश दिए कि प्रदेश के अस्पतालों में अनुपयोगी पड़े वेंटिलेटरों की मरम्मत कर एक सप्ताह में हही चालू करें। चिकित्सा सचिव को इस कवायद का नतीजा 17 मई को होने वाली अगली सुनवाई पर हलफनामे के साथ कोर्ट के समक्ष पेश करने के भी आदेश दिए गए।

याचिकाकर्ता परीक्षित ने कहा था कि सिरोही में पिछले 15 दिनों में सौ से अधिक मरीजों की पर्याप्त चिकित्सा सुविधा के अभाव में जान चली गई। जबकि सिरोही के अस्पताल में 43 वेंटिलेटर पड़े हैं, लेकिन उनका उपयोग नहीं किया जा रहा है। सरकार ने जवाब में माना कि सिरोही के अस्पताल में 43 वेंटिलेटर पड़े हैं। इनमें से 5 वेंटिलेटर काम में आ रहे हैं। बाकी की रिपेयरिंग चल रही है।

निजी व्यक्ति को कांसन्ट्रेटर लेने की मंजूरी दें : कोर्ट
हाईकोर्ट ने केंद्र से कहा है कि उसे कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन कांसन्ट्रेटर खरीदने चाहिए। सुझाव भी दिया कि निजी व्यक्ति को भी कांसन्ट्रेटर खरीदने की मंजूरी दी जानी चाहिए।

खबरें और भी हैं...