पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोनाकाल:550 नए राेगी का अनचाहा नया रिकाॅर्ड, सितंबर में अब तक 6,040 संक्रमित, 3,578 डिस्चार्ज, 103 माैत

जाेधपुर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 2 और माैत, अब तक 276

शहर में काेराेना राेज नया अनचाहा रिकाॅर्ड बना रहा है। बुधवार काे एक दिन में सर्वाधिक 550 राेगी मिले। इस माह में यह तीसरी बार है जब संक्रमिताें का आंकड़ा 500 के पार गया है। इससे पहले 10 अगस्त काे 502 और 13 अगस्त काे 505 राेगी मिले थे। इससे भी चिंताजनक बात यह है कि राेजाना की संक्रमण दर अब 25% से अधिक आ रही है। यानी प्रतिदिन हाेने वाली जांचाें में से एक चाैथाई सैंपल पॉजिटिव आ रहे हैं।

बुधवार को 2 और संक्रमिताें ने दम ताेड़ा दिया और 199 राेगियाें काे ठीक हाेने पर डिस्चार्ज किया गया। काेराेना के कहर के लिहाज से सितंबर का महीना सबसे घातक सिद्ध हाे रहा है। पहले 16 दिनाें में 103 संक्रमिताें की माैत हाे चुकी हैं। वहीं 6,040 संक्रमित मिले और 3,578 डिस्चार्ज हुए।

इस माह में औसतन 377 राेगी राेज मिले रहे और करीब 7 माैतें हाे रही हैं। इस लिहाज से पूरे सितंबर में 11 हजार से अधिक राेगी और 200 से ज्यादा माैतें हाेने की आशंका है। कुल संक्रमिताें का आंकड़ा 18,935 पहुंच चुका है। इनमें से 11,472 राेगी ठीक हाे चुके हैं और 276 राेगी दम ताेड़ चुके हैं।

एमजीएच में हुई दोनों मौतें
बुधवार की दोनों नई मौतें एमजीएच में हुई। पहली मौत बालेसर के गेनाराम (76) की सुबह 9:15 बजे हुई। उन्हें 8 सितंबर काे भर्ती किया गया था। उन्हें टाइप 2 डायबिटीज व बीपी की शिकायत भी थी। इसके बाद दाेपहर 1:50 बजे महामंदिर निवासी नाथी देवी (49) ने दम ताेड़ दिया। वे संक्रमित पाए जाने के बाद 4 सितंबर काे भर्ती हुई थी।

डिस्कॉम में फैला संक्रमण, 2 दिन का लॉकडाउन

जोधपुर डिस्कॉम के न्यू पावर हाउस स्थित कॉरपोरेट कार्यालय मंे कोरोना का कहर बढ़ गया। इसके चलते वहां दो दिन का लॉक डाउन लगाया गया है। 17 व 18 सितंबर को कॉरपोरेट कार्यालय के अधिकारी व कर्मचारी घर रह कर ही कार्य करेंगे। डिस्कॉम मुख्यालय में अब तक एक निदेशक सहित 15 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं।

कॉल सेंटर व सिटी सर्किल सहित 50 से 60 लोग संक्रमित हो चुके हैं। एक एक्सईएन व स्टोर कीपर की तो मौत हो चुकी है। कॉरपोरेट कार्यालय के एक लेखाधिकारी कोरोना के कारण एम्स में गंभीर हालत में भर्ती हैं। उन्हें दो दिन तक वेंटिलेटर पर रखा गया। अब उन्हें ऑक्सीजन पर रखा गया है। यहां पर एक निदेशक ने दो दिन पहले अपने परिवार सहित कोरोना जांच करवाई थीं। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप मच गया।

पहले तो निदेशक कक्ष के आसपास के एरिया को सील किया गया, लेकिन जब ज्यादा लोगों के संक्रमित होने की बात सामने आई तो यहां लॉकडाउन करने का निर्णय किया गया। सचिव (प्रशासन) मुकेश चौधरी की ओर से बुधवार को जारी आदेश के अनुसार घर से ही दो दिन अपने विभागाध्यक्ष, कार्यालयाध्यक्ष से फोन द्वारा संपर्क में बने रहेंगे। प्रत्येक कार्यालयाध्यक्ष आगामी दो दिन में अपने कार्यालय को सेनिटाइजेशन करवाएगा।

राज्य सरकार द्वारा समय समय पर कोरोना महामारी के लिए जारी एडवाईजरी के अनुसार कार्रवाई तय करेंगे। उनके अधीन यदि कोई अधिकारी, कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो कोरोना जांच करवाने के लिए पाबंद करेंगे।

निजी बैंक में 2 को छोड़ शेष सभी कर्मचारी, तो एसबीआई में भी 1 पॉजिटिव
शहर में कोरोना का खौफ दिनो-दिन बढ़ता जा रहा है और ऐसे ही माहौल में काम कर रहे बैंककर्मी लगातार संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं। इनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की खांडा फलसा ब्रांच में पॉजिटिव केस आने के चलते कामकाज बंद कर सेनेटाइजेशन किया गया। इसी तरह इंडसइंड बैंक की ओलिंपिक रोड शाखा में तो दो को छोड़कर शेष सभी स्टाफ पॉजिटिव आ गया।

इसी बैंक की आखलिया ब्रांच के हैड भी पॉजिटिव आने के चलते क्वारेंटाइन हो चुके हैं। ओलिंपिक रोड ब्रांच पर बुधवार को खौफ का माहौल स्पष्ट देखने को मिला, जब बैंक के गार्ड ने गेट पर दरवाजा बंद कर बहुत जरूरी काम से आने वाले ग्राहकों का तापमान जांचने और हाथों को सेनेटाइज करवाने के बाद ही प्रवेश दिया जाने लगा।

कमोबेश ऐसे ही खौफ के हालात शहर की अन्य बैंकों में भी है, जहां ग्राहकों को सेवा देने की मजबूरी के चलते अधिकारी-कर्मचारी ड्यूटी कर रहे हैं, लेकिन कुछ बैंक ऐसी भी हैं, जहां स्टाफ को संक्रमण से बचाने के इंतजाम नगण्य हैं।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें