• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • Vande India, but still far from hometown; Quarantine of latte will be brought from abroad in Jaipur itself, preparations for 71 hotels of Jadhpur and 4 cities were stopped.

घर वापसी / वंदे भारत, पर गृहनगर से फिर भी दूर; विदेश से लाैटे लाेगाें का क्वारैंटाइन जयपुर में ही, जाेधपुर और 4 शहराें के 71 हाेटलों की तैयारी धरी रह गई

इमोशनल पल : लंदन से जयपुर पहुंचने पर खुशी जताती रंजना झा। कोरोना के डर से बेटे ने दूर से छुए मां के पैर। इमोशनल पल : लंदन से जयपुर पहुंचने पर खुशी जताती रंजना झा। कोरोना के डर से बेटे ने दूर से छुए मां के पैर।
X
इमोशनल पल : लंदन से जयपुर पहुंचने पर खुशी जताती रंजना झा। कोरोना के डर से बेटे ने दूर से छुए मां के पैर।इमोशनल पल : लंदन से जयपुर पहुंचने पर खुशी जताती रंजना झा। कोरोना के डर से बेटे ने दूर से छुए मां के पैर।

  • क्वारेंटाइन पूरा करके भी संक्रमण के खतरे में सैकड़ाें किमी दूर गृहनगर जाना हाेगा
  • गृहनगर नहीं भेजना था तो वहां के सैकड़ों होटलों और स्टाफ को क्यों तैयार करवाया

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:34 AM IST

जोधपुर. वंदे भारत अभियान के तहत काेराेनाकाल में विदेश से भारतीयों की वापसी ताे शुरू हाे गई है लेकिन अधिकांश लोग फिर भी अपने घर तो दूर, शहर तक भी नहीं पहुंच पाएंगे। कारण यह कि प्रवासी राजस्थानियों को लेकर विदेश से आ रहीं 14 फ्लाइट जयपुर एयरपोर्ट पर ही लैंड करेंगी। साथ ही सरकार ने इन लोगों को जयपुर की होटलों में ही क्वारेंटाइन करने का प्रावधान किया है।
उधर पहले की व्यवस्थाओं में इन लोगों के लिए क्वारेंटाइन की व्यवस्था जोधपुर सहित 5 अन्य शहरों के होटल्स में की गई थी। कलेक्टर्स ने होटलों के लिए प्रस्ताव लेकर उनकी दरें भी तय कर दी थी। होटल संचालकों ने भी स्टाफ सहित तमाम इंतजाम भी किए।

हालांकि अब इन होटल्स में कोई क्वारेंटाइन नहीं होगा। उधर विदेश से लौटने वाले भी यही गुहार कर रहे हैं कि कम से कम उन्हें उनके शहर में तो क्वारेंटाइन किया जाए। परिजनों से भले ही नहीं मिल सकें लेकिन अपने शहर में रहने का सुकून ताे रहेगा।
लौटे जोधपुरी बोले- अपने शहर में रहने का सुकून तो रहता

शास्त्रीनगर निवासी सॉफ्टवेयर इंजीनियर मोहित सांवल पत्नी के साथ प्रोजेक्ट पर लंदन गए थे। उन्हें 1 मई को लौटना था। लॉकडाउन में अटकने के बाद वंदे भारत प्रोजेक्ट के तहत घर लौटने का मौका मिला। मोहित ने बताया कि जयपुर आने पर उन्हें जोधपुर का ऑप्शन ही नहीं दिया गया। जयपुर की होटल की सूची ही दिखाई गई। जब क्वारेंटाइन ही करना था तो कम से कम जोधपुर की होटल में तो करते।

अब क्वारेंटाइन पीरियड यहां गुजारने के बाद फिर साधन कर करीब 350 किमी दूर जाेधपुर जाना पड़ेगा। इस दाैरान भी संक्रमण का खतरा ताे रहेगा ही। इससे अच्छा ताे यह रहता कि जाेधपुर में ही क्वारेंटाइन करते, वहां से सीधा घर ही जाते। जोधपुर के दो और लोगों को भी जयपुर में रखा गया है। 
जाेधपुर में 50 हाेटल प्रवासियाें के इंतजार में
दरअसल, केंद्र सरकार ने जब विदेश से लोगों को लाने की योजना बनाई तो उन शहरों के कलेक्टर्स को अपने यहां होटल्स की तैयारी के लिए भी कहा था। जोधपुर में 50 होटल संचालकों ने कलेक्टर को अपने होटल को क्वारेंटाइन सेंटर बनाने की सहमति के साथ प्रस्ताव दिया था।

कलेक्टर ने इन्हें अनुमोदित करते हुए किराया भी तय कर दिया था। अब राजस्थान राज्य पर्यटन निगम ने प्रदेश के छह शहरों में 110 होटल की अनुमोदित सूची जारी की है। इनमें जयपुर के 39, जोधपुर 14, उदयपुर 14, जैसलमेर 14, अलवर 11 व बीकानेर के 17 होटल शामिल किए गए। इनका किराया 1 हजार से 4500 रुपए रखा गया है।
हमने ताे पूरी तैयारी कर ली, अब? : हाेटल संचालक
जोधाणा होटल्स एंड रेस्टोरेंट सोसायटी के अध्यक्ष जेएम बूब के मुताबिक शहर में होटल संचालकों ने सरकार की गाइडलाइन के तहत होटल तैयार कर लिए हैं। लॉकडाउन के बावजूद स्टाफ की व्यवस्था भी की है। अभी तक जोधपुर में ऐसे लोगों को लाने या ठहराने की कोई सूचना नहीं है।
1 जून तक लौटने हैं 1887, कुल 8500 लोग अटके हैं
13 देशों में अटके राजस्थानी फ्लाइट में 1 जून तक जयपुर आएंगे। इनके लिए 1,887 लोगों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। राज्य सरकार के मुताबिक करीब 8500 लोग राजस्थान आने हैं, हालांकि बाकी के रजिस्ट्रेशन व उनके लिए फ्लाइट का शेड्यूल अभी तक तय नहीं हुआ है।
14 दिन बाद निगेटिव आए तो ही घर जाने देंगे

  • इन लोगों को जयपुर एयरपोर्ट के आसपास की होटलों में ही 14 दिन क्वारेंटाइन किया जाएगा। कोरोना टेस्ट निगेटिव आने के बाद ही घर जाने दिया जाएगा। क्वारेंटाइन के दौरान परिजनों को भी नहीं मिलने दिया जाएगा।-सुबोध अग्रवाल, अतिरिक्त मुख्य सचिव, उद्योग विभाग

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना