पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:बनाड़ में दस हजार घरों तक नहीं पहुंची पानी की पाइप लाइन

जोधपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बनाड़ के गेटवे होटल से पीलार बालाजी मंदिर तक करीब 10 से 12 हजार लोगों को पीने का पानी के लिए पाइप लाइन ही नहीं है। हाल यह है कि लोगों को हर महीने 800 से 1000 रुपए प्रति टैंकर के हिसाब से दो टैंकर डलवाने पड़ रहे हैं। दस साल लोग टैंकर के पानी से ही प्यास बुझा रहे हैं।

गंभीर बात यह है कि गत लोकसभा चुनाव में सभी राजनैतिक पार्टियों के राजनेताओं ने यहां का दौरा और पाइप लाइन बिछाने का वादा भी किया, लेकिन इसको लेकर जमीनी स्तर पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। यही वजह है कि क्षेत्र के लोगों ने कलेक्ट्रेट पहुंच तख्तियां लेकर विरोध प्रदर्शन किया। यहां के लोगों का कहना है कि इन क्षेत्रों में ना केवल इंसानों, बल्कि मवेशियों के लिए भी पीने का पानी नसीब नहीं हो रहा है। लिहाजा वे जेब से पैसा खर्च कर नाडी और खेळी में पानी डलवा रहे हैं।
हर घर प्रतिवर्ष टैंकर के 10 से 12 हजार रुपए करता है खर्च
समाजसेवी व रालोपा युवा नेता राजेंद्र छबरवाल बनाड़ का कहना है कि यहां पर प्रतिवर्ष हर घर में 10 से 12 हजार रुपए का औसतन बजट पानी के टैंकर पर खर्च होता है। इसको लेकर पीएचईडी व प्रशासन को लिखित में भी दिया, लेकिन काेई कार्रवाई नहीं हुई।
इनके नाम दिया ज्ञापन

समाजसेवी राजेंद्र छबरवाल बनाड़, गोविंद सियाग, सरपंच प्रतिनिधि खोखरिया भागीरथ नैण, अर्जुन गोदारा, सूरजाराम डारा, पूनमचंद विश्नोई, श्रवण मुंडेल, इंद्रसिंह, स्वरूपराम देवासी, भंवराराम चौधरी, भाकरराम गोदारा, ओमप्रकाश, जगदीश मेघवाल, अशोक देडू, रामकरण सियाग, भंवरलाल सुथार, पारस सुथार आदि ने मुख्यमंत्री, जल संसाधन मंत्री व केंद्रीय जलशक्ति मंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें