• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jodhpur
  • When The Doctor Was Removed From The Primary Health Center, The Villagers Came Out In Protest, Demanding To Cancel The Transfer

डॉक्टर के तबादले पर सड़कों पर उतरे ग्रामीण:प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से डॉक्टर को हटाया तो विरोध में सड़क पर उतर आए ग्रामीण,  तबादला निरस्त करने की मांग की

जोधपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मौके पर एकत्रित हुए लोग। - Dainik Bhaskar
मौके पर एकत्रित हुए लोग।

जोधपुर जिले के बिलाड़ा गांव में बाला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर बुधवार सुबह गांव के सरपंच, पंचायत समिति सदस्य, महिलाएं सहित सैकड़ों ग्राम वासियों ने बाला गांव के स्वास्थ्य केंद्र के बाहर चिकित्सा अधिकारी का तबादला अन्यत्र होने के विरोध में लामबंद हो विरोध प्रदर्शन कर सुबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम एक ज्ञापन बिलाना उपखंड अधिकारी को सौंपा तबादला निरस्त करने की मांग की है।

मुख्यमंत्री के नाम दिये ज्ञापन में समस्त ग्राम वासियों का कहना है कि बाला गांव के स्वास्थ्य केंद्र पर वर्तमान में लगे चिकित्सा अधिकारी राकेश धरी को 10 माह पूर्व ही स्वास्थ्य केंद्र पर लगाया गया था। पर दो दिन पहले ही राजनैतिक द्वेषता के कारण इनका तबादला अन यंत्र चिकित्सालय में कर दिया गया। जब कि चिकित्सा अधिकारी धरी ने कोरोना काल में ग्राम वासियों को बेहतर सुविधा व वैक्सीन लगाने का रिकार्ड कार्य कर पूर्व में खस्ताहाल में चल रहे इस स्वास्थ्य केंद्र का कायाकल्प कर ग्राम वासियों को चिकित्सा सेवा की राहत पहुंचा रहे हैं।

चिकित्सा सेवा का करेंगे बहिष्कार

चिकित्सक के इस तरह के संतोषप्रद कार्य के उपरांत भी राजनैतिक द्वेषता के कारण तबादला अनयंत्र कर जन भावना के साथ खिलवाड़ किया गया है। तबादला निरस्त कराने के पक्ष में विरोध प्रदर्शन कर ग्रामीण ने अल्टीमेटम देते हुए कहा है कि सरकार ने यह तबादला निरस्त नही किया तो आगे उग्र आंदोलन कर स्वास्थ्य केंद्र के सामने सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ चिकित्सा सेवा का बहिष्कार करगे। बता दे कि बाला स्वास्थ्य केंद्र बिलाड़ा ब्लाक के एक आदर्श स्वास्थ्य केंद्र की श्रेणी में आता है। इस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर आस पास के दर्जनो गांवो के सैकड़ों ग्रामीण हर रोज उपचार के लिए आते रहते है। वही उपखंड क्षेत्र का सबसे बड़ा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भी है। जिस कारण यहां हर रोज सैकड़ों मरीज उपचार के लिए पहुंचते है। गत वर्षों से इस स्वास्थ्य केंद्र पर अच्छा चिकित्सक नही होने के कारण अस्पताल की पुरी व्यवस्था चरम राई हुई थी।

OPD बढ़ने लगी थी

10 माह पूर्व आये इस चिकित्सक अधिकारी ने अस्पताल की व्यवस्था को पुरी तरह सुचारु बनाने से स्वास्थ्य केंद्र की OPD में इजाफा होने के साथ ही ग्रामीण इलाके में स्वास्थ्य सेवाएं का निःशुल्क लाभ ग्रामीणों को मिलने लगा था। पर निजी चिकित्सा पद्धति को बढ़ावा देने वाले कुछ राजनैतिक रसूखदारों ने जानबूझकर चिकित्सक का तबादला अनयंत्र करवा दिया। जो ग्राम वासियों को स्वीकार्य नही है। इस मौके पर बाला सरपंच नाथूराम ओलक, पंचायत समिति सदस्य धनाराम मेघवाल, पुर्व सरपंच प्रतिनिधि डुगरराम सिरवी, पुर्व सरपंच राणाराम नैण, लुबांराम मतवाला, लांबा के रिटायर्ड व्याख्याता हरि राम, प्रहलादराम, मोतीराम सिरवी, वार्ड पंच जवरीलाल चौकीदार, समाजसेवी सुरेश लोल सहित ग्रामीण उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...