पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जरा मुस्कुराइए:जहां कोरोना मरीजों की जिंदगी से जद्दोजेहद जारी है, वहां दो जुड़वां किलकारियां भी गूंजीं

जोधपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रेलवे अस्पताल ओटी में ड्रेसिंगकर्मी की पत्नी ने दिया जुड़वां बच्चों को जन्म - Dainik Bhaskar
रेलवे अस्पताल ओटी में ड्रेसिंगकर्मी की पत्नी ने दिया जुड़वां बच्चों को जन्म
  • पॉजिटिव मरीजों के इलाज में लगे रेलवे हॉस्पिटल से पॉजिटिव खबर भी आई

रेलवे के मंडल अस्पताल में एक ओर तो कोरोना से ग्रसित होकर रेलवे कर्मचारी सुरक्षित जिंदगी पाने के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं, उसी अस्पताल के परिसर में शुक्रवार को दो नई जिंदगियों ने जन्म लिया। वह भी जुड़वां। ये बच्चे भी उस कर्मचारी की जिंदगी में खुशियां लाए हैं जो कोरोना के दौर में अपनी ड्यूटी निभा रहा है, रेलवे अस्पताल में ही। जी हां, सुरेंद्र, जो यहां ऑपरेशन थिएटर में ड्रेसिंग का काम करता है।

उसकी पत्नी संतोष को सुकून है कि डर के इस माहौल में उनकी जिंदगी में दोहरी खुशी आई है। रेलवे अस्पताल में जुड़वा बच्चों के जन्म का बीते तीन दिन में यह दूसरा केस है। सुरक्षित प्रसव करवाने वाली महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. नेहा तिवारी का कहना है कि प्रसव पूर्व कई तरह के जोखिम होने के बावजूद दोनों प्रसूताओं को हमारी टीम पर पूरा भरोसा था, हम उस पर खरे उतरे।

खबरें और भी हैं...