पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मौत का मामला:पीपाड़ अस्पताल के युवा डॉक्टर चंदेल की तबीयत बिगड़ने से मौत

पीपाड़ शहर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पीपाड़ जिला अस्पताल में कार्यरत 32 वर्षीय युवा एनेथीसिइस्ट डॉ प्रदीप चंदेल की मंगलवार जोधपुर स्थित आवास पर अचानक तबीयत बिगड़ने से मौत हो गई। मौत से जिला अस्पताल में कार्यरत सभी कर्मचारी शोकग्रस्त हो गए। डॉक्टर चंदेल अगस्त महीने में डेपुटेशन पर पीपाड़ अस्पताल में लगे थे।

चंदेल के आने के बाद अस्पताल में 17 वर्षों बाद जटिल सर्जरी होनी शुरू हो गई। जिससे शहरवासियों में भारी उत्साह देखने को मिला। अब छोटे-मोटे ऑपरेशन के लिए भी शहरवासियों को जोधपुर की तरफ नहीं जाना पड़ता था। डॉ चंदेल की अचानक मौत से चिकित्सकों के साथ शहर वासियों भी गमगीन हो गए।

अस्पताल अधीक्षक डॉ सुरेंद्र सिंह परिहार की मौजूदगी में कर्मचारियों ने श्रद्धांजलि दी। पीपाड़ अस्पताल के डॉक्टर जयप्रकाश सोनगरा डॉ चंदेल के कक्षा 11 से सहपाठी रहे। उन्होंने बताया कि डॉक्टर चंदेल छात्र जीवन से बड़े खुश मिजाज हंसमुख इंसान थे। उन्होंने कक्षा 11 से लेकर एमबीबीएस एक पढ़ाई साथ की थी। साथ में जोधपुर मेडिकल कॉलेज से पीजी में भी साथ पढ़े।

पिता का सपना पूरा करने बने थे डॉक्टर : डॉक्टर चंदेल तीन भाइयों में मंझले थे। पढ़ाई में शुरू से ही होशियार रहे। 14 साल पहले पिता का देहांत हो गया। पिता चाहते थे कि वह डॉक्टर बने। मेहनत व लगन के साथ पढ़कर 2014 में कोटा मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करके पिता के सपने को पूरा किया। माता सरकारी टीचर है। पीजी जोधपुर से कंप्लीट करने के पश्चात शेरगढ़ में पोस्टिंग हुई।

इसके बाद पीपाड़ में अगस्त माह में नियुक्ति हुई। ऑपरेशन थियेटर नर्सिंग कर्मी विजेश खिंची ने बताया कि वे हफ्ते में 2 दिन बिलाड़ा व चार दिन पीपाड़ सेवाए देते थे। डॉक्टर चंदेल की 1 साल भले ही शादी हुई थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें