फलोदी सब जेल से फरारी प्रकरण:फरार हुए आखिरी कैदी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा जेल, पिछले साल एक साथ 16 कैदी जेल से भाग गए थे

फलोदी9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

फलोदी पुलिस ने रिमांड अवधि पूरी होने के बाद आज मुलजिम श्यामलाल विश्नोई को अदालत के आदेश पर जेल भेज दिया। सीआई राकेश ख्यालिया ने बताया कि श्यामलाल को दो दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया था जो आज पूरा होने पर उसे अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेजा गया।

श्यामलाल विश्नोई उन 16 कैदियों में शामिल था जो पिछले साल 5 अप्रैल 2021 को फलोदी की सब जेल से एक साथ फरार हो गए थे। एक साथ 16 होने की वारदात से पूरे राजस्थान के पुलिस और जेल प्रशासन में खलबली मच गई थी। जेल प्रशासन ने सब जेल के सारे स्टाफ को ना केवल सस्पेंड कर दिया था बल्कि विभागीय जांच शुरू करने के साथ ही सबको फलोदी सब जेल से स्थानांतरित कर दिया था।

फलोदी सब जेल से गत वर्ष फरार हुए 16 कैदियों में से 15 कैदी पूर्व में गिरफ्तार किए जा चुके थे। बचे हुए एक कैदी 26 वर्षीय श्यामलाल विश्नोई को भी पुलिस ने 12 मई को गिरफ्तार कर लिया। श्यामलाल विश्नोई पुलिस थाना भोपालगढ़ के बिराणी गांव का रहने वाला है। पुलिस ने न केवल फरार हुए कैदियों को गिरफ्तार किया, बल्कि उन्हें भागने में सहयोग करने वाले, फरारी के दौरान शरण देने वाले 9 जनों को भी गिरफ्तार किया। श्यामलाल को गिरफ्तार कर लाने में थाना प्रभारी राकेश ख्यालिया मय ओपाराम, सुरेश डुकिया, श्यामलाल की भूमिका रही। एसपी ने इन्हें पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

खबरें और भी हैं...