मकान मालिक पांच दशक से तमिलनाडु में:फलोदी में सूनी हवेली से लाखों की चोरी, जेवरात व तांबे के बर्तन भी ले गए

फलोदी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
 शहर के नाहटों के बास स्थित एक पुरानी हवेली से अज्ञात चोर करोड़ों रुपयों के सोनी चांदी के जेवरात, पीतल और तांबे के बर्तन आदि चोरी कर ले गए। - Dainik Bhaskar
 शहर के नाहटों के बास स्थित एक पुरानी हवेली से अज्ञात चोर करोड़ों रुपयों के सोनी चांदी के जेवरात, पीतल और तांबे के बर्तन आदि चोरी कर ले गए।

शहर के नाहटों के बास स्थित एक पुरानी हवेली से अज्ञात चोर करोड़ों रुपयों के सोनी चांदी के जेवरात, पीतल और तांबे के बर्तन आदि चोरी कर ले गए। चोरी कब हुई, पक्के तौर पर कोई कुछ नहीं बता सकता लेकिन मौका ए वारदात से लगता है कि चोरों ने तसल्ली से कई दिनों में माल चोरी कर ले गए और आसपास में किसी को भनक तक नहीं लगी।

तमिलनाडु निवासी गजेश लूंकड पुत्र लक्ष्मीचंद लुंकड ने यहां पहुंच कर 13 अक्टूबर को रिपोर्ट दर्ज करवाई। सीआई राकेश ख्यालिया स्वयं मामले की जांच कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है और कुछ संदिग्ध लोगों की पहचान भी की है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही मामले का पटाक्षेप कर दिया जाएगा।

शहर में ऐसी सैकडों हवेलियां हैं जिन पर ताले लटके हुए हैं और मालिक दशकों से अन्य प्रांतों में रहकर व्यापार कर रहे हैं। हवेलियों में पहले भी चोरियों की अनेक वारदातें हुई हैं। इस हवेली के मालिक भी करीब 5 दशक से तमिलनाडु के मनारगुडी जिले में रहकर व्यापार कर रहे हैं। यह हवेली भी सौ वर्ष से भी अधिक पुरानी है। हवेली के साथ ही एक मकान निर्माणाधीन है जिसका काम कुछ महीनों से बंद है।

अनुमान है कि चोर इसी मकान से अंदर घुसे। मकान के मुख्य द्वार पर ताले लटके हुए थे इसलिए किसी को शक तक नहीं हुआ। मकान के अंदर गैस कटर, हथोडा, गैस सिलेण्डर, पानी की खाली बोतलें, नमकीन, बिस्कुट के रैपर आदि काफी संख्या में मिले हैं। जिस पैमाने पर चोरी हुई है और चोरी करने के लिए जितना सामान यहां लाया गया है उससे लगता है कि चोर संख्या में 4 से 5 तक रहे होंगे।

खबरें और भी हैं...