लापता युवक का शव मिला:बावड़ी में तैरता मिला 26 साल के युवक का शव, 4 दिन पहले हुआ था लापता

करौली7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नहाते समय डूबने से मौत होने का अंदेशा , फेंफड़ों में पानी भरने से हुई युवक की मौत

शहर की जाटव बस्ती से लापता हुए 26 साल के युवक का चौथे दिन शनिवार को शहर की जच्चा बावड़ी में शव मिलने से सनसनी फैल गई। 11 मई को युवक बिना बताए घर से लापता हो गया था। जिसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट युवक की मां की ओर से कोतवाली थाने में दर्ज कराई गई थी। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद से ही पुलिस युवक की तलाश में जुटी हुई थी। इस बीच जच्चा की बावड़ी के पास युवक के कपड़े मिलने के बाद भरतपुर व करौली की एसडीआरएफ की टीम ने युवक को ढूंढने के लिए सर्च अभियान चलाया था।

बावड़ी के पानी में शुक्रवार को दिनभर तलाश की गई, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। शनिवार को युवक का शव जच्चा की बावड़ी के पानी में तैरता हुआ मिला। प्रथम दृष्टया मौत का कारण नहाते समय डूबना माना जा रहा है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया। पुलिस जांच में यह भी सामने आया है कि युवक नशे का सेवन करता था। हो सकता है कि नशे की हालत में नहाने के लिए बावड़ी में उतर गया और डूब गया। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गई है। डीएसपी किशोरीलाल व थानाप्रभारी वीर सिंह ने बताया कि जाटव बस्ती का निवासी राहुल जाटव 11 मई को सुबह बिना बताए घर से चला गया था।

इसके पिता जगमोहन जाटव की तीन साल पूर्व मौत हो गई थी। राहुल दो भाई है। राहुल परचून की दुकान करता था और छोटा भाई धीरज फर्नीचर की दुकान पर नौकरी करता है। युवक की गुमशुदगी की रिपोर्ट मां कमलेश देवी की ओर से दर्ज कराने के बाद पुलिस तलाश में जुट गई थी। पुलिस तलाश करती हुई जच्चा की बावड़ी पहुंची थी तो वहां उसके कपड़े पड़े व चप्पल मिले। जच्चा की बावड़ी के पास रहने वाले एक बाबा को हिरासत में लेकर भी पूछताछ की गई तो पता चला था कि राहुल उसके पास आया तो सही था, लेकिन कुछ देर बाद चला गया था। राहुल के कपड़े मिलने के बाद स्थानीय गोताखोरों के अलावा जिला एसडीआरएफ तथा भरतपुर की एसडीआरएफ टीम के प्रभारी बृजमोहन शर्मा के नेतृत्व में टीम के गोताखोरों ने शुक्रवार को दिन भर जच्चा की बावड़ी में सर्च अभियान चलाया, लेकिन देर शाम तक कोई सुराग नहीं लगा था। सुबह मॉर्निंग वाॅक पर जाने वाले लोगों को राहुल का शव पानी में तैरता हुआ दिखाई दिया। शव मिलने की सूचना पर डीएसपी किशोरीलाल, थानाप्रभारी वीर सिंह, एसडीआरएफ टीम के बृजमोहन अपनी टीम के साथ पहुंचे और शव को निकालकर राजकीय अस्पताल में पहुंचाया। जहां पुलिस ने मेडिकल टीम में शामिल डॉ. ओपी मीना, डॉ. जेपी मीना, डॉ. दीपक मीना से पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया। डॉक्टरों का कहना रहा कि फेंफड़ों में पानी भरने से मौत हुई है। राहुल की शादी 8 साल पहले डीग की निवासी कविता के साथ हुई थी। राहुल की मौत की खबर सुनकर पत्नी व परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल बना हुआ है। बताया कि पिता की मौत के बाद बड़ा होने के कारण परिवार के भरण पोषण की जिम्मेदार राहुल पर ही थी।

खबरें और भी हैं...