चंबल की चिट्ठी भेजी:प्रधानमंत्री, 200 विधायक और 35 सांसदों को भेजी चंबल की चिट्ठी

हिन्डौन9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बालघाट पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना किसान संघर्ष समिति ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित प्रदेश के 200 विधायक, 25 लोकसभा सांसद और 10 राज्यसभा सांसदों को चंबल की चिट्ठी भेजी है। पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना किसान संघर्ष समिति के प्रदेशाध्यक्ष भामाशाह रामनिवास मीना व प्रदेश संयोजक अमर सिंह नीमरोठ ने बताया कि समिति के मीडिया प्रभारी दीनदयाल सारस्वत ने चंबल की चिट्ठी तैयार की है।

इस चिट्ठी में चंबल से बारिश के समय व्यर्थ बहकर जाने वाले पानी को ईआरसीपी के तहत प्रदेश के उत्तरी-पूर्वी 13 जिलों मेंं नहरों के माध्यम से लाए जाने की आवश्यकता बताई गई है। इसके साथ ही पानी के अभाव में आमजन को हो रही परेशानी के साथ सिंचाई नहीं होने से बंजर होते खेत और पानी की कमी से ही औद्योगिक अभाव से बढ़ती बेरोजगारी का प्रमुखता से उल्लेख किया गया है। चिट्ठी के माध्यम से 13 जिलों के लोगों को जागरूक किया गया है। समिति के प्रदेशाध्यक्ष रामनिवास मीना व प्रदेश संयोजक अमर सिंह नीमरोठ ने बताया कि चंबल की चिट्ठी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिडला, राज्यपाल कलराज मिश्र सहित प्रदेश के विधायक, लोकसभा सदस्य व राज्यसभा सदस्यों को भेजा गया है। सभी से मांग की गई है कि ईआरसीपी को राष्ट्रीय परियोजना घोषित किया जाए। ताकि प्रदेश के 13 जिलों के लोगों को नया जीवन मिल सके।

खबरें और भी हैं...