मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म और बाल गोपाल योजना का शुभारंभ:51 हजार 635 किलो मिल्क पाउडर पहुंचा, जिले में डेढ़ लाख स्टूडेंट होंगे लाभान्वित

करौली2 महीने पहले
सरकारी स्कूलों में लम्बे समय से टलती आ रही मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना और निशुल्क यूनिफॉर्म वितरण योजना का आगाज हो गया है।

सरकारी स्कूलों में लम्बे समय से टलती आ रही मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना और निशुल्क यूनिफॉर्म वितरण योजना का आगाज हो गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को चूरू को छोड़कर प्रदेश के सभी जिलों में वर्चुअल माध्यम से शुभारंभ किया। इस मौके पर करौली के राजकीय चिरंजीलाल उच्च माध्यमिक स्कूल में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। अभियान के तहत जिले के 8 ब्लॉक के 1474 सरकारी स्कूल और मदरसों में 51 हजार 635 किलो मिल्क पाउडर पहुंच चुका है।

जिले के सरकारी स्कूल के स्टूडेंट्स को स्कूल यूनिफॉर्म और बाल गोपाल योजना का कलेक्टर अंकित कुमार सिंह ने शुभारंभ किया। इस मौके पर जिला कलेक्टर ने स्टूडेंट्स को स्कूल यूनिफार्म का वितरण किया। साथ ही स्टूडेंट्स को अपने हाथों से दूध पिलाकर बाल गोपाल योजना का भी आगाज किया। इस मौके पर एनीमिया की रोकथाम के लिए आयरन फोलिक एसिड की गोलियों का भी वितरण किया गया। कलेक्टर अंकित कुमार सिंह अधिकारियों को दूध पाउडर और यूनिफार्म का वितरण सुनिश्चित करने और आपूर्ति निरंतर बनाए रखने के निर्देश दिए। इस दौरान स्कूली स्टूडेंट्स ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत कर मंत्रमुग्ध कर दिया।

कलेक्टर ने कहा कि स्कूल में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को कुपोषण से बचाने में दूध और आयरन की गोलियां मदद करेंगी। साथ ही सरकार की मंशा के अनुरूप स्टूडेंट्स को पोषण मिलेगा। करौली जिले में इन योजनाओं से 1 लाख 51 हजार 309 स्टूडेंट्स लाभांवित होंगे। अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी (प्रारंभिक शिक्षा) राजेश कुमार और एडीपीसी (समसा) अशोक जैन ने बताया कि बाल-गोपाल योजना के तहत जिले के 1474 राजकीय स्कूलों, मदरसों और विशेष प्रशिक्षण केन्द्रों के क्लास 1 से 8वीं तक के स्टूडेंटे्स को सप्ताह में 2 दिन (मंगलवार और शुक्रवार) को मिल्क पाउडर से निर्मित दूध पिलाया जाएगा। वहीं मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म वितरण योजना के तहत स्टूडेंट्स को यूनिफॉर्म के 2 सेट वितरित किए जाएंगे। सिलाई के लिए 200 रुपए प्रत्येक स्टूडेंट्स के खाते में ट्रांसफर किए जाएंगे।

खबरें और भी हैं...