विरोध - प्रदर्शन:खनिज विभाग की ओर से तैयार माल पर रॉयल्टी वसूलने के विरोध में व्यापारियों ने प्रदर्शन किया

करौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हिंडौन सिटी। खनिज एवं वनविभाग की ओर से परेशान किए जाने पर‎
प्रदर्शन करते हुए व्यापारी एवं दूसरी तक बंद पड़ा पत्थर कारोबार।‎ - Dainik Bhaskar
हिंडौन सिटी। खनिज एवं वनविभाग की ओर से परेशान किए जाने पर‎ प्रदर्शन करते हुए व्यापारी एवं दूसरी तक बंद पड़ा पत्थर कारोबार।‎
  • ट्रांजिट पास मांगने के विरोध में 100 से ज्यादा पत्थर व्यापारियों ने कारोबार रखा बंद

खनिज एवं वनविभाग की ओर से पत्थर व्यापारियों के यहां से निकलने वाले तैयार माल के वाहनों को रोककर रायल्टी वसूलने के लिए ट्रांजिट पास मांगने की कार्रवाई का उपखंड क्षेत्र के पत्थर व्यापारियों ने विरोध करते हुए रविवार को कारोबार बंद रखकर रोष प्रकट किया। रीको व्यापार मंडल कार्यालय में एकत्र हुए पत्थर व्यापारियों ने नाराजगी जाहिर की है कि आसपास के जिलों में पत्थर व्यापारियों से ट्रांजिट पास नहीं मांगा जा रहा है। व्यापारियों ने विभागीय अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर नाराजगी का इजहार किया। इस मामले में एक प्रतिनिधिमंडल करौली में कलेक्टर से मिलेगा।

80 फैक्ट्रियों से जुड़े हैं 3 हजार श्रमिक
रीको व्यापार मंडल के अध्यक्ष शिवकुमार सिंहल एवं पत्थर व्यापार संघ के अध्यक्ष दिगंबर चतुर्वेदी ने बताया कि 50 साल पुराने रीको औद्योगिक क्षेत्र में 200 से अधिक यूनिटें हैं। इनमें 80 से अधिक औद्योगिक इकाइयां सेंड स्टोन की है। इनमें पत्थर की जाली, फर्श बिछावट, दीवार टाइल बनती हैं। इसके अलावा करीब 50 पत्थरों के फड़ है। जहां पटिटयां, दरवाजे, दासे आदि मिलते हैं। प्रतिदिन करीब 3 करोड़ से अधिक का कारोबार होता है। इन फैक्ट्रियों व फड़ों से करीब 3 हजार से अधिक मजदूरों को रोजगार मिलता है। खनिज विभाग व वनविभाग की ओर से पत्थर व्यापारियों को परेशान किया जा रहा है। कहना रहा कि उनके यहां माल करौली से ईरवन्ना पर आता है और हिंडौन मे सेंड स्टोन की लीज नहीं है।
प्रदर्शन कर जताई नाराजगी
रीको व्यापार मंडल के अध्यक्ष शिव कुमार सिंघल के नेतृत्व में विनोद शर्मा, विष्णु जिन्दल, शिवराम गुर्जर, महेश, दिगंबर, गिरवरशरण, झम्मनलाल, तेज सिंह ,सुनील शर्मा सहित रीको मंडल के व्यापारियों ने खनिज विभाग की मनमानी को लेकर अपने कारोबार बंद कर रीको मंडल कार्यालय में विरोध प्रदर्शन किया। व्यापारियों ने खनिज विभाग के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बताया कि खनिज विभाग द्वारा पत्थर की इकाइयों में तैयार माल से भरे वाहनों को जब्त किया जा रहा है। माल का बिल होने के बावजूद भी जब्त करने की कार्रवाई किए जाने से नाराजगी है। प्रदेश के अन्य रीको क्षेत्रों में निकासी पर कोई जब्ती नहीं की जा रही हैं। रॉयल्टी विभाग द्वारा पत्थर की तैयार माल पर टीपी(रवन्ना ) वसूलने के लिए पत्थर व्यापारी को परेशान किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...