प्रदर्शन:बारिश से टूटे गोरेहार पुल निर्माण का नहीं कराने पर ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

सपोटराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्राम पंचायत कालागुड़ा के गांव गोरेहार की कालीसिल नदी पर सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा 6 वर्ष पूर्व निर्मित पुल 9 माह पूर्व बारिश से एक हिस्सा टूट जाने के बाद पुन: निर्माण नही कराने पर आक्रोशित ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर पंचायतीराज मंत्री रमेशचंद मीणा से शिकायत की है। छात्र नेता हेमसिंह गोरेहार, राजेन्द्र, कि रोड़ी, प्रेमसिंह, लेखरा ज,भंवर, हुकम, हनुमान, र ामराज व हरकेश मीणा ने बताया कि वर्ष 2016 में तत्कालीन कलक्टर ने मांढा योजना से गोरेहार की कालीसिल नदी पर पुल बनाने के लिए 48 लाख रुपए स्वीकृत किए थे। लेकिन सानिवि के इंजीनियरों व संवेदक की सांठगांठ से घटिया निर्माण के साथ नींव खुदाए बिना ही पिलरों का निर्माण करा दिया गया। दूसरी ओर निर्माण कार्य में सीमेंट की मात्रा कम होने के साथ लाल बजरी और पहाड़ की कंकरीट प्रयुक्त की गई। जिसका ग्रामीणों द्वारा विरोध करने के बाद भी पुल का निर्माण करा दिया गा।

अगस्त 2021 में बारिश से कालीसिल बांध की चादर चलने के कारण पुल के पानी भराव की जगह से एक हिस्सा टूट गया। जिसके कारण ग्राम पंचायत कालागुड़ा,सिमिर व बगीदा के दर्जनों गांवों का आवागमन अवरूद्ध हो गया। लेकिन शिकायतों के बाबजूद पुल का निर्माण नही कराने से आक्रोशित ग्रामीणों ने रविवार को प्रदर्शन किया। इधर,सानिवि के अधिशाषी अभियंता शरत मीणा ने बताया कि गोरेहार पुल निर्माण के लिए 1.17 करोड़ रुपए का प्रस्ताव भेज दिया है। स्वीकृति मिलते ही निर्माण कार्य करा दिया जावेगा।

खबरें और भी हैं...