उर्स का आगाज:चादर पेश करने के साथ उर्स का आगाज

अकलेरा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मनोहरथाना मार्ग पर स्थित हजरत अमजद अली शाह की दरगाह पर रविवार को चादर पेश करने के साथ तीन दिवसीय उर्स का आगाज हो गया। इस बार उर्स में कोरोना के चलते दुकानें नहीं लगेंगी।रविवार को हज़रत अमजद अली शाह सरकार के आस्ताने पर उर्स कमेटी की ओर से चादर पेश की गई। उर्स कमेटी के सदर सलीम मोहम्मद मंसूरी सदारत में उर्स का आगाज हुआ। इस बार कोविड-19 के कारण उर्स में दुकानों को अनुमति नहीं दी गई। केवल दरगाह पर कव्वालियां होंगी। उर्स के दौरान दरगाह पर कव्वाल पार्टियां कलाम पेश करेंगे। कमेटी के सदस्य अजहर मंसूरी ने बताया कि इस मौके पर हाजी रहीम, नायब सदर हसन भाई, आरिफ मौजूद थे।

सय्यद बाबा बावड़ी वालों का तीन दिवसीय उर्स शुरूभवानीमंडी। पचपहाड़ स्थित हजरत सय्यद बाबा बावड़ी वालों का तीन दिवसीय 64 वां उर्स रविवार से शुरू हो गया। सदर हकीम खान ने बताया की उर्स की शुरुआत सुबह 8 बजे कुरान ख्वानी व फातेहा पेश कर की गई। बाद नमाज़ जौहर दरगाह शरीफ पर बुनियाद अली लाहोरी की और से मंसूर पीर बाबा, चांदशाह वली व मस्ताना जमालशाह वारसी के आस्ताने पर भी चादर पेश की गई। साथ ही सैयद बाबा के आस्ताने पर जावरा के कव्वाल अहमद कबीर पार्टी ने कलाम पेश किए। अकीदतमंदों ने चादर चढ़ाकर मुल्क में अमन चैन के लिए दुआ की।

खबरें और भी हैं...